हिमाचल न्यूज़. भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार सहायक दवा नियंत्रण को मिला पुलिस रिमांड शिमला में होगी पूछताछ

0
13

जिला एवं सत्र न्यायाधीश सोलन की अदालत ने भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार सहायक दवा नियंत्रक निशांत सरीन को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है विजिलेंस एंड करप्शन विभाग ने वीरवार दोपहर के समय सहायक दवा नियंत्रक को जिला एवं सत्र न्यायाधीश सोलन भूपेंद्र शर्मा की अदालत में पेश किया जहां से उसे 5 दिन पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है बता दे कि प्रदेश उच्च न्यायालय मैं बुधवार को अग्रिम जमानत की याचिका खारिज होने के बाद सहायक दवा नियंत्रक को गिरफ्तार कर दिया गया था राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने 21 अगस्त को राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय बद्दी में सहायक दवा नियंत्रक के पद पर कार्यरत निशांत सरीन के खिलाफ एक फार्मा उद्योग की शिकायत पर विजिलेंस थाना सोलन में मामला दर्ज किया था मामले में फार्म उद्योगों से होटल में ठहरने व एयर टिकट खर्च के अलावा भ्रष्टाचार के कई गंभीर आरोप लगाए थे इसके बाद विजिलेंस की टीम ने 23 अगस्त को भ्रष्टाचार के मामले में सहायक दवा नियंत्रक बद्दी निशांत सरीन के सात ठिकानों पर छापा मारा था इस छापेमारी में विजिलेंस को बेनामी संपत्ति के दस्तावेज हाथ लगे हैं इसके अलावा बड़ी मात्रा में विदेशी शराब बरामद हुई थी जिसकी कीमत लाखों में बताई जा रही है विजिलेंस ने चंडीगढ़ पंचकूला बद्दी बिलासपुर व शिमला मैं उसके साथ ठिकानों पर एक साथ रेड की थी विजिलेंस जांच में सहायक दवा नियंत्रक की 3 और नई संपत्तियों का खुलासा हुआ है हालांकि विजिलेंस ने इन संपत्तियों के बारे में अभी खुलासा नहीं क्या है इससे पूर्व विजिलेंस की रेड मैं चंडीगढ़ पंचकुला जीरकपुर रोपड़ माया गार्डन व शिमला के पंथाघाटी मैं फ्लैट का खुलासा हुआ था इसके अलावा विजिलेंस के रेड में 150 विदेशी शराब की बोतलें बरामद हुई थी जिसकी कीमत करीब ₹600000 बताई जा रही है दबिश के दौरान जांच टीम को ₹800000 से अधिक नगदी के अलावा 5 मोबाइल फोन और 4 लैपटॉप बरामद किए गए