हिमाचल प्रदेश मैं बीजेपी को लगा बहुत बड़ा झटका पंडित सुखराम और उनके पोते ने ज्वाइन की कांग्रेस पूर्व केंद्र संचार मंत्री पंडित सुखराम व उनके पोते आश्रय शर्मा कि कई दिनों से कांग्रेस मैं शामिल होने की अटकलें पर आज मोहर लग गई है दादा और पोते ने आज दिल्ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया है आश्रय शर्मा और सुखराम के कांग्रेस में शामिल होने के साथ ही मंडी लोकसभा चुनाव और भी रोचक हो गया है क्योंकि बीते विधानसभा चुनाव मैं सुखराम ने भाजपा को मंडी जिला की सभी सीटों पर कांग्रेस का सुपड़ा साफ करने में भाजपा की मदद की थी अब एक बार फिर से सुखराम और उसके पोते ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है फिलहाल ऐसे होने से आश्रय के पिता और भाजपा मैं मंत्री अनिल शर्मा के लिए आश्रय गले का फंदा बन चुके हैं राजनीति के दिग्गज पंडित सुखराम और उसके पोते आश्रय के कांग्रेस जॉइन करने इस सीट पर मुकाबला करना भाजपा के लिए टेढ़ी खीर होगी