हिमाचल -प्रदेश में लोकसभा चुनाव का बिगुल बजा :-
हिमाचल प्रदेश लोकसभा संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप ने आज रोहड़ू विधानसभा क्षेत्र के महिला मोर्चा सम्मेलन से चुनाव प्रचार का शाखानंद किया और माताओं बहनों से आशीर्वाद स्वरूप उनके पक्ष से अधिक से अधिक वोट करने की अपील की ताकि लोकतंत्र की सबसे बड़ी पंचायत मैं हम सब उनके के माध्यम से अपनी आवाज को बुलंद कर सके इस अवसर पर शिमला संसदीय क्षेत्र के प्रभारी श्री पुरुषोत्तम गुलेरिया और प्रदेश सचिव शशि बाला जिला मासूम अध्यक्ष श्रीमती प्रवीणा झांजटा रोहड़ू मंडल अध्यक्ष बलदेव रन्टा भी उपस्थित रहे इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती अनीता नाथटा को बहुत बहुत बधाई देते हुए कहा कि इस बार पूरे हिमाचल प्रदेश में भाजपा एक बार फिर से भारी बहुमत से जीतने वाली है ।
हिमाचल-प्रदेश के लोकसभा चुनाव में भाजपा वामपंथी आमने -सामने :-
शिमला विश्वविद्यालय मैं हुई खूनी संघर्ष ने लिया राजनीतिक रंग भाजपा वामपंथी आमने-सामने) हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय मैं एसएफआई व एबीवीपी छात्र संगठनों के बीच 2 दिन तक चली खूनी संघर्ष ने राजनीतिक रंग ले लिया है विरोध स्वरूप में एबीवीपी से जुड़ी भाजपा वा एसएफआई से जुड़े सीपीआईएम सड़कों पर उतर आए हैं भाजपा के बैनर तले मानवाधिकार रक्षा मंच ने शिमला मैं डीसी ऑफिस के बाहर धरना दिया व वामपंथ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की मंच के अध्यक्ष के सी सडीयाल ने एसएफआई पर आरोप लगाया है की वामपंथ का इतिहास हिंसा से जुड़ा हुआ रहा है केरला के बाद शिमला में इस तरह का मामला निंदनीय है और यह है मानवाधिकार की अवहेलना है यह सब सुनियोजित तरीके से हुआ है और इस हिंसक वारदात से मानवाधिकार का हनन हो रहा है पुलिस प्रशासन को ऐसी हिंसा फैलाने वालों कार्यकर्ताओं के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए वहीं सीपीआईएम ने विश्वविद्यालय में हुई मारपीट के विरोध में सदर थाने का घेराव किया और आरोप लगाया कि थाने का एसएचओ भाजपा विचारधारा  के है और कॉलेज टाइम में एबीवीपी के नेता भी रह चुके हैं इसलिए वह सीपीआईएम से जुड़े कार्यकर्ताओं पर सरकार के इशारे पर प्रताड़ित करने का काम कर रही है शिमला के राज्य कमेटी सचिव बलवीर पराशर ने कहा है कि एसएफआई के छात्रों के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है ।