हिमाचल प्रदेश

0
2

हिमाचल प्रदेश में एक बार फिर से छुआछूत का मामला सामने आया है स्वर्ण जाति के लोगों ने दलित महिला के अंतिम संस्कार करने से रोका) आज के दौरे में छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर के मनाली विधानसभा क्षेत्र के तहत फोजल के धारा गांव में सवर्ण जाति के लोगों ने श्मशान घाट पर दलित महिला का अंतिम संस्कार करने से रोक दिया इसके उन्होंने छुआछूत का हवाला दिया मनाली के तहत फोजल धारा गांव में एक दलित महिला की मौत हो गई थी इसके बाद जब परिजन उसका अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशान घाट ले गए तो सवर्ण जाति के लोगों ने उन्हें अंतिम संस्कार करने से रोक दिया और छुआछूत का हवाला दिया सवर्ण जाति के विरोध के बाद दलित समाज के लोगों ने महिला के शव को नाले में जलाना पड़ा इस घटना के बाद दलित समाज के लोगों ने स्वर्ण जाति के लोगों की सोच पर सवाल उठाते हुए सरकार और प्रशासन से इस मामले मैं उचित कार्रवाई की मांग की गांव के निवासी केहर सिंह मेहर चंद शिव राम तापे राम ने बताया कि हूराग पंचायत की ओर से यह शमशान घाट सबके लिए बनाया गया था ऐसे में छुआछूत करना घोर अपराध है उधर पंचायत प्रधान आशा देवी ने गांव वालों को बताया कि यह शमशान घाट सर्वजनिक है इस पर किसी को भी कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए जब पंचायत की ओर से यह शमशान घाट सर्वजनिक घोषित कर दिया था तो स्वर्ण जाति के लोगों को इसके बारे में सोचना चाहिए था क्योंकि हिमाचल में बहुत सारे ऐसे स्वर्ण जाति के लोग हैं जो दलित समाज के लोगों पर अत्याचार कर रहे हैं इस घटना के बाद ना तो सरकार और ना प्रशासन दलित समाज के लोगों की बात सुनेगा और ना ही कोई और इससे पहले भी हिमाचल में बहुत सारे घटनाएं देखने को मिली जो दलित लोगों के साथ घटी