हिमाचल में एक बार फिर से दलित परिवार के साथ हुई मारपीट)( राजधानी शिमला के ढली थाना के अंतर्गत एक दलित वर्ग के परिवार के साथ मारपीट का मामला सामने आया है परिवार ने उसके ही पड़ोस में रहने वाले उच्च वर्क के परिवार वालों पर चोरी की घटनाओं मैं सलिप्त रहने और मारपीट करने का आरोप लगाया है परिवार ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने की बात भी कही है शिमला में माकपा के बैनर तले परिवार ने प्रेस वार्ता कर आरोप लगाया है की मनीराम और रामदेव काफी लंबे समय से परिवार को तंग कर रहे हैं क्योंकि परिवार ने मनीराम को लोहा चोरी करते वक्त वीडियो बनाया था जिसके डर से मनीराम ने परिवार के साथ मारपीट शुरू की मारपीट में देवेंद्र और ऋतु को सिर और टांग में काफी गहरी चोटे आई है अमीचंद परिवार ने हस्पताल में डॉक्टरों के द्वारा सही इलाज ना मिलने के भी आरोप लगाया है माकपा के प्रदेश सचिवालय सदस्य संजय चौहान ने पुलिस व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि दलित परिवार के साथ पुलिस ने न्याया नहीं किया है शिकायत के बावजूद भी पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया जबकि परिवार के साथ मारपीट और जातिसूचक शब्द कहे गए हैं अस्पताल जाने पर भी परिवार को सही उपचार नहीं दिया गया जो अपने आप में यह काफी गंभीर मामला है हिमाचल में यह घटना काफी ज्यादा घट रही है ना तो पुलिस कुछ कर रही है और ना ही सरकार यहां तक की अस्पताल में भी इसका भेदभाव किया जा रहा है