B.ed को अनुमति के खिलाफ सड़कों पर उतरे J B T प्रशिक्षु विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन( हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा जेबीटी के कमीशन मैं B ed अभ्यार्थियों को अनुमति देने के विरोध में प्रदेशभर में जेबीटी प्रशिक्षु सड़कों पर उतर आए हैं नहान में सैंकड़ों जेबीटी प्रशिक्षुओं ने इसके विरोध में रैली निकाली प्रशिक्षुओं ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल को भी ज्ञापन सौंपा है दरअसल सरकार ने B.Ed डिग्री धारकों को जेबीटी कमीशन के लिए अनुमति दी है जिसक प्रदेशभर मैं जेबीडी प्रशिक्षु विरोध कर रहे हैं जेबीटी का प्रशिक्षण ले रहे अभ्यर्थियों का कहना है की जेबीटी अभ्यार्थियों के साथ सरकार सीधा साधा अन्याय कर रही है इनका कहना है कि जेबीटी व B.Ed अलग अलग प्रशिक्षण है ऐसे में जेबीटी कमीशन मैं B.Ed को अनुमति देना उचित नहीं है जेबीटी प्रशिक्षुओं का कहना है की जेबीटी कमीशन मैं B.Ed को शामिल किया जाता है तो इससे जेबीटी प्रशिक्षण का कोई औचित्य नहीं रह जाता है उनका यह भी कहना है कि बिना जेबीटी टेट के कैसे B.Ed प्रशिक्षु को कमिशन में लिया जा सकता है साथ ही उनका यह भी कहना है कि जेबीटी एक प्राथमिक शिक्षा मैं प्रशिक्षण है जबकि B.Ed शिक्षा में स्नातक की डिग्री है इनका यह भी आरोप है कि B.Ed प्रशिक्षु आर एंड पी रूल को पूरा नहीं कर सकते ऐसे में उन्हें कमीशन के योग्य नहीं माना जा सकता है प्रदेश में हजारों जेबीटी प्रशिक्षु इस समय प्रशिक्षण ले रहे हैं ऐसे में जेबीटी कमिशन मैं B.Ed को अनुमति देने के खिलाफ विभिन्न जिले में हजारों जेबीटी प्रशिक्षुओं का गुस्सा भड़का हुआ है और वह कहीं ना कहीं अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं