हिमाचल

0
1

शिमला पुस्तक मेले में पहुंची एक ऐसी किताब जो बता देगी आपका भूत भविष्य और वर्तमान)( हिमाचल प्रदेश शिमला पुस्तक मेले में एक ऐसी किताब भी है जो आपको आपका भविष्य बता देगी बात थोड़ी हैरानी कर  वाली जरूर है लेकिन यह दावा है पंडित मणिराम का जो सांच विद्या के माध्यम से आपको भविष्य ही नहीं बल्कि भूतकाल और आपका वर्तमान की भी सटीक जानकारी देंगे विश्व की विपुल होती पाबूची लिपि में शताब्दियों पूर्व रचित चमत्कारी सांचा विद्या सिरमौर जिले में काफी प्रचलित है सिरमौर जिले के खड़काह के रहने वाले पंडित मणिराम पाबूच इन दिनों शिमला के गेटी थिएटर मैं लोगों के मन के हर प्रश्न का जवाब  सांचा विद्या से दे रहे है इसमें दैविक भौतिक और पोतुक दोष का पता चलता है सांचा पर पाशा फेक कर लोग अपने वर्तमान भूत भविष्य की जानकारी ले रहे हैं पाशे मैं अंक लिखे गए है जिन्हें 3 बार सांचे पर फेंक कर अंक गणना करके किताब में लिखे रहस्य को जानकर किसी भी व्यक्ति की समस्या का निराकरण उपाय सुझाया जाता है पंडित मणिराम ने बताया कि उनके पूर्वज पाबूच पंडित आज से 1924 वर्ष पूर्व सिरमौर आए थे नहान के राजा ने जैसलमेर से शादी कर अपने लिए रानी लाई थी रानी के साथ दहेज के रूप में पाबूच पंडित नीता राम भी सांचा विद्या के साथ सिरमौर आए थे रानी के साथ आए पाबूच पंडित को सिरमौर रियासत के राजा ने खड़काहां में बसाया ताकि यहां पर पंडित एकांत में रहकर ज्योतिष विद्या का अध्ययन वा फलादेश सहित का निर्माण पहाड़ी भाषा में कर सके जिसके बाद पीढ़ी दर पीढ़ी यह ज्योतिष के ग्रंथ की रचना करते गए पाबूची लिपि में करीब 400 ज्योतिष व प्रश्नावली संबंधित ग्रंथ तैयार किए गए जिसमें से 350 अभी भी सुरक्षित है लगभग 1100 लोगों विद्या को अभी भी जानते हैं हस्त लिखित यह ऐसी किताब है जिसमें रोग  दोष विकृत विकार पीड़ा देव दोष पितृदोष शारीरिक व मानसिक देवीया और दैत्य दोष सहित हर प्रकार से मानव को पीड़ा करने वाली समस्याओं का निवारण उपाय देव शक्ति व्यवहारिक प्रयोग और बौद्धिक शक्तियों का समावेश कर उपलब्ध करवाया गया है पंडित मणिराम ने कहा कि पाबूची लिपि जीवित रखने के लिए स्कूलों में इसे मान्यता मिलनी चाहिए जिसे आने वाली पीडी भी इस विद्या को सीख कर इसे जिंदा रखने का काम करें