हिमाचल

0
71
जनमंच कार्यक्रम में इस मुद्दे पर आमने सामने आ गए मंत्री व कांग्रेस विधायक लगे भाजपा  मुर्दाबाद के नारे)( हिमाचल प्रदेश जिला किन्नौर के मुख्यालय रिकांग पिओ के पुलिस मैदान में रविवार को छठे जनमंच के दौरान उस समय माहौल तनावपूर्ण हो गया जब किन्नौर के कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी व शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी के बीच बहस हो गई तथा कांग्रेस विधायक ने अपने समर्थकों के साथ जनमंच के दौरान जिला की पंचायत शुदारंग की महिला प्रधान ने क्षेत्र में पानी की समस्या से मंत्री को अवगत करवाया तथा कहा कि पानी को लेकर विभाग लेटलतीफी कर रही है और मुझे विभाग से लिखित मैं चाहिए कि उनकी पंचायत में कब तक पानी की समस्या का समाधान हो जाएगा जिस पर मंत्री ने विभाग को समस्या का शीघ्र समाधान करने के निर्देश दिए)

( मंत्री और विधायक के बीच खूब हुआ हंगामा )( उन्होंने प्रधान से कहा कि आपकी पंचायत में  कोई भी कार्य हो तो क्या आप उसे लिखित में देती हैं जिस पर कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी व समर्थक मंत्री के इस व्यवहार से भड़क उठे तथा उनमें व मंत्री मैं बहस हो गई इसके साथ ही जगत सिंह नेगी व मंत्री के बीच में इस बात को लेकर भी खूब हंगामा हुआ तथा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंत्री व भाजपा सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए इस तनावपूर्ण माहौल को शांत करने के लिए पुलिस को भी काफी  मशक्कत करनी पड़ी व बड़ी मुश्किल से माहौल को शांत करवाया किन्नौर के विधायक ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि किन्नौर जिले में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है जनमंच में लोगों की समस्या नहीं सुनी जा रही जिस महिला मंत्री को महिला प्रधान से बात करने की तमीज नहीं तथा जिसे नौतोड़ा के बारे में पता नहीं उससे कोई उम्मीद नहीं है उन्होंने कहा कि अधिकारी से लेकर कर्मचारी सब जनमंच मैं आते हैं और यहां पर लोगों की समस्या नहीं सुनी जाती और लाखों रुपए का फालतू खर्चा किया जा रहा है जो सरासर  गलत है उन्होंने कहा कि जनमंच में किसी को भी संतोषजनक उत्तर नहीं मिला है तथा यही नहीं मंत्री का कहना है कि जनमंच मैं नौतोड़ा का मुद्दा नहीं उठाया जा सकता  है जिस पर उन्होंने कहा कि अगर जनमंच पर यह मुद्दा नहीं उठाया जा सकता है तो जनमंच क्यों रखा है उन्होंने कहा कि जनमंच में नौतोड़ा के नाम पर लोगों को गुमराह किया जा रहा है तथा चुने हुए प्रतिनिधियों को भी जनमंच मैं बोलने नहीं दिया जा रहा है जिससे यह लग रहा है कि यह जनमंच नहीं बल्कि भाजपा का अपना मंच है