1 लाख कर्ज के बोझ ने जान ले ली

0
15

   चकिया बबुरी के समीपवर्ती डवक गाँव में अपने परिवार की आर्थिक तंगी से परेशान महिला विमला देवी ने रविवार सुबह मौत को गले लगा लिया. महिला का शव, घर के पीछे अहाते में नीम के पेड़ से लटकता हुआ मिला. महिला की इस आत्मघाती कदम से उसके पति व परिजनों में कोहराम मच गया. आर्थिक तंगी का दंश झेल रहे परिवार से अब पत्नी का साया उठ जाने से , पति के करुण क्रंदन से वहां उपस्थित हर किसी की आँखें नम हो उठी. सुचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर, पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.प्राप्त जानकारी के अनुसार, बबुरी गाँव निवासी दिलीप गुप्ता, अपनी पत्नी विमला गुप्ता के साथ डवक गाँव में रहते थे. दिलीप टेम्पू चलाकर परिवार का भरण पोषण कर रहे थे, फिर भी घर की माली हालत सुधारने का नाम नहीं ले रही थी. अपनी माली हालत सुधारने के लिए विमला ने एक संस्था से 1 लाख रूपये कर्ज लिया था. परिवार के भरण-पोषण के साथ दृ साथ, आये समय कर्ज की किस्त भरना विमला के लिए मुश्किल हो रहा था, इससे वो अवसाद में रहने लगी थी. शनिवार की रात जब पति घर पहुंचा तो पति दृ पत्नी खाना खाकर सो गये. सुबह में जब पति की नीद खुली तो वो पत्नी को अहाते में नीम के पेड़ से लटकता पाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here