108 किन्नरों को भी टीका दिया गया,सुंदरगढ़ जिले में 121 स्थायी व अस्थाई केंद्रों में टीकाकरण किया जा रहा

0
52

राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले में 121 स्थायी व अस्थाई केंद्रों में टीकाकरण किया जा रहा है। राज्य के अन्य जिलों में टीके की गति तेज है पर सुंदरगढ़ जिले में कम होने के कारण यह पांचवें स्थान पर है। जिले में टीका लेने वालों में महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की संख्या अधिक है। 20.92 लाख की आबादी में अब तक 3,21,443 पुरुष तथा 2,85,669 महिलाएं टीका ले चुकी हैं। 108 किन्नरों को भी टीका दिया गया है।
सुंदरगढ़ जिले के कोरोना की दूसरी लहर अब कमजोर पड़ने लगी है। कुछ सप्ताह के अंदर तीसरी लहर के आने की आशंका जतायी जा रही है। इससे बचाव का एकमात्र विकल्प टीकाकरण ही है। 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है। जिले में 69 स्थायी तथा 52 अस्थाई केंद्रों को मिलाकर 121 केंद्रों में टीका दिया जा रहा है। जिले के सभी सरकारी अस्पताल, सामुदायिक चिकित्सा केंद्र, अर्बन हेल्थ सेंटर में टीकाकरण किया जा रहा है। आवश्यकता पड़ने पर अस्थाई शिविर भी लगाए जा रहे हैं। जिले में 28 जून तक कुल 6,07,220 लोगों को टीका दिया जा चुका है इनमें से 5,40,151 को पहला डोज तथा 67,068 को दूसरा डोज मिल चुका है। इसमें 1,33,469 वरिष्ठ नागरिक शामिल हैं। 45 से 60 वर्ष आयु वर्ग के 1,92,541 लोग, 18 से 44 साल आयु वर्ग के 2,81,210 लोगों को टीका दिया गया है। इस तरह 3,21,443 पुरुष एवं 2,85,669 महिलाओं को टीका लग चुका है। महिलाओं की तुलना में टीका लेने वाले पुरुषों की संख्या 35,774 अधिक है। टीकाकरण में किन्नर भी आगे हैं एवं 108 किन्नर अब तक टीका ले चुके हैं। जनसंख्या की तुलना में सुंदरगढ़ जिले में टीकाकरण की गति में तेजी नहीं आ पा रही है। यही कारण है कि राज्य स्तर पर टीकाकरण में जिले का पांचवां स्थान है। एक दिवसीय आंकड़े में 25 जून को सबसे अधिक 14,149 लोगों को टीका लगा जबकि 6 जून को सबसे कम 191 लोगों को ही टीका मिला।