0
129

नई दिल्ली
उत्तर भारत के ज्यादातर राज्य इस समय भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित हैं। उधर मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्‍य प्रदेश के साथ-साथ पश्चिम उत्‍तर प्रदेश और पश्चिमी मध्‍य प्रदेश सब डिविजन के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश से फ्लैश फ्लड (अचानक बाढ़ आने) का बड़ा खतरा है।

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में भी फ्लैश फ्लड की आशंका जताई गई है। बता दें कि उत्तर प्रदेश और बिहार के कई इलाकों अभी भी बाढ़ से बुरे हालात हैं। असम और उत्तराखंड में भी लगातार बारिश की वजह से कई नदियां उफान पर हैं।

क्या होता है फ्लैश फ्लड?

फ्लैश फ्लड यानी अचानक बाढ़ आना एक प्राकृतिक घटना है। निचले इलाकों में (लो लाइंग एरियाज) एक ही जगह पर काफी ज्यादा मात्रा में बारिश होने से ऐसी स्थिति बनती है। आमतौर पर उन निचले इलाकों में फ्लैश फ्लड का ज्यादा खतरा होता है जहां आसपास नदी, नहर या कोई बड़ा नाला हो। कई बार फ्लैश फ्लड इतना खतरनाक हो जाता है कि इलाके में 15-20 मिनट की बारिश के बाद ही 7-8 फीट तक पानी भर जाता है। ऐसे में कई दफा तो लोगों को संभलने का मौका भी नहीं मिल पाता।

ओडिशा के 12 जिलों में भारी बारिश से बाढ़ का खतरा
फ्लैश फ्लड को लेकर केंद्रीय जल आयोग ने अलर्ट जारी किया है। केंद्रीय जल आयोग के अधिकारियों ने मौसम विभाग के हवाले से बताया है कि जम्मू-कश्मीर सब डिविजन के कुछ क्षेत्रों में फ्लैश फ्लड का मध्‍यम खतरा है। ओडिशा के भद्रक में भारी बारिश से बाढ़ के हालात हैं। ओडिशा के मुख्‍य सचिव ने बताया कि 12 जिलों में भारी बारिश से बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।