0
11

Kolkata दुर्गापुर: केंद्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (CMERI), दुर्गापुर ने अपनी आवासीय कालोनी में एक विशाल सौर वृक्ष लगाया है. दावा किया जा रहा है कि यह दुनिया का सबसे विशाल सौर वृक्ष है. इस सौर वृक्ष का डिजाइन इस तरह तैयार किया गया है कि इसके प्रत्येक सोलर फोटोवोल्टिक (पीवी) पैनल को सूरज की रोशनी मिल सके. वहीं, यह भी ध्यान रखा गया है कि इसके नीचे बेहद कम हिस्से में छाया पड़े.
CMERI के निदेशक प्रोफेसर हरीश हिरानी ने बताया कि इस सौर वृक्ष की क्षमता रोजाना आधार पर 11.5 केडब्ल्यूपी (किलोवाट पीक) है. वहीं इसकी सालाना क्षमता 12,4000-14,000 स्वच्छ एवं हरित ऊर्जा पैदा करने की है. सीएमईआरआई वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) के तहत काम करता है.

UN मुख्यालय में वैश्विक नेताओं के साथ पीएम मोदी ने किया ‘गांधी सोलर पार्क’ का उद्घाटन

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे द्वारा तैयार किए गए वृक्ष में ऊर्जा के उत्पादन के साथ-साथ पीवी पैनलों की संख्या, दुनिया में सबसे ज्यादा है.” इस संस्थान के प्रवक्ता ने बताया कि उनके पास उपलब्ध जानकारी के अनुसार दुनिया का सबसे बड़ा सौर वृक्ष यूरोप में है, जिससे नियमित 8.6 केडब्ल्यूपी ऊर्जा का उत्पादन होता है जो कि इस वृक्ष से कम है.