सलमान की किताब पर रोक की याचिका खारिज

2
127

सलमान खुर्शीद की किताब पर रोक के लिए याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट ने किया खारिज। याचिकाकर्ता पर प्रचार में बने रहने और लेखक एवं प्रकाशक को पक्षकार नहीं बनाए जाने पर इसे राजनीति से प्रेरित बताया। पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सलमान खुर्शीद द्वारा लिखित किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन अवर टाइम्स’ (Sunrise Over Ayodhya: Nationhood in Our Times) पर हिंदुओं की भावना आहत होने का आरोप लगाते हुए याचिकाकर्ता ने इस किताब के प्रकाशन, प्रसार और बिक्री को रोकने की मांग की थी। इसके लिए केंद्र और दिल्ली सरकार को निर्देश देने की मांग की थी।

चीफ जस्टिस डी.एन. पटेल और जस्टिस ज्योति सिंह की पीठ ने किताब के लेखक या प्रकाशक को पक्षकार नहीं बनाने पर याचिकाकर्ता की जम कर खिंचाई की। जजों ने कहा कि आप एक अवसरवादी व्यक्ति हैं और इसके जरिये अपने प्रचार के लिए याचिका दायर की है। पीठ ने कहा कि आप किताब पर पूरी प्रतिबंध तो लगवाना चाहते हैं, लेकिन आपने लेखक को पक्षकार नहीं बनाना चाहते। आप कुछ भी अनापसनाप अनुरोध करने आ जाते हैं। अदालत ने चेतावनी दी कि ऐसे बेबुनियाद काम से हमारा समय बर्बाद ना करें। हम इसे जुर्माने के साथ खारिज कर सकते हैं। आप ललेखक को एक पक्षकार के रूप में शामिल क्यों नहीं कर रहे हैं। हम आपको कोई मौका नहीं देंगे, यह एक प्रचार के लिए याचिका दायर की है। बेंच ने कहा कि किताब पर प्रतिबंध लगवाना तो चाहते हैं, लेकिन आपने लेखक को पक्षकार बनाने में हिचकते हैं। हम चाहें तो आप ओर जुर्माना भी कर सकते हैं। जुर्माने के साथ खारिज कर सकते हैं। ऐसी हरकतों से बाज आएं। हम आपको कोई मौका नहीं देंगे, यह एक जानबूझकर उठाया गया कदम है।
अब ये देखना है कि हर बात में हिन्दू भावनाओं का बहाना बनाकर हिंदुओं की भावनाओं से कब तक खेलते रहेंगे राजनितिज्ञ?
संपादक

2 COMMENTS

  1. Whats up very nice blog!! Man .. Beautiful .. Superb .. I will bookmark your site and take the feeds also?KI’m happy to search out so many useful info here within the submit, we’d like work out more techniques on this regard, thank you for sharing. . . . . .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here