महंगाई, पुलिस हिरासत में मौत पर अखिलेश यादव ने की BJP की आलोचना

3
33

UNA NEWS
यूपी ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी की आलोचना करते हुए कहा है कि भाजपा बांटो और राज करो की नीति पर काम कर रही है। अब विपक्ष को भी बांटने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। ईडी और सीबीआई के जरिए विपक्ष को बांटकर और डराकर रखना चाहती है। यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक स्थिति है। ईडी और सीबीआई का प्रयोग महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में भी किया गया है। विपक्ष के नेताओं को इन जांच एजेंसियों के माध्यम से परेशान किया जा रहा है। अब तो कांग्रेस की अध्यक्ष को भी ईडी ने बुला लिया है। कांग्रेस की अध्यक्ष को बुलाकर केन्द्र सरकार यह संदेश देना चाह रही है कि जो विरोध में बोलगा उस पर ईडी का इस्तेमाल होगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर का भाजपा के साथ तालमेल है तो उसके साथ जाए। सबको पता है कि ओम प्रकाश राजभर किसके इशारे पर बयानबाजी कर रहे हैं। ओम प्रकाश राजभर पर भाजपा द्वारा गठबंधन तोड़ने और बयानबाजी करने का दबाव डाला गया है। हो सकता है कि ओम प्रकाश राजभर ईडी के दबाव में आकर भी बयानबाजी कर रहे हों।

राजभर को सुरक्षा मिलने पर अखिलेश ने कहा कि जो भाजपा को खुश रखेगा उसे सुरक्षा मिलेगी और वह स्वतंत्र घूमेगा। ओम प्रकाश राजभर के अंदर किसी और दल की आत्मा आ गयी है। उन्हें झाड़-फूंक की जरूरत है। तभी ठीक होंगें। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा चुनाव 2024 में फिर जीतेगी। भाजपा सरकार ने भोले बाबा पर चढ़ाने वाले दूध पर टैक्स लगा दिया। दूध, दही पर भी जीएसटी लगा दिया है। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी आ रही है। भाजपा ने महंगाई बढ़ा दी। दूध, दही पर पहले जीएसटी किसी भी सरकार ने नहीं लगाया। भाजपा सरकार में गाय माता की हालत खराब है। सांड़ लोगों पर हमला कर जान से मार रहे हैं। अभी बेरोजगारी का आंकड़ा आया है। 22 करोड़ नौजवानों ने फार्म भरा और नौकरी कुछ लाख को मिली। समाजवादी पार्टी अग्निवीर योजना का विरोध करती है। पूर्वांचल और उत्तर प्रदेश के नौजवानों की फौज में सबसे ज्यादा भागीदारी रहती आई है। नौजवान का फौज में जाने और वर्दी पहनने का सपना रहता है, लेकिन भाजपा ने नौजवानों के सपने को तोड़ा है। हमारी नौजवानों से अपील है कि वे अग्निवीर योजना का विरोध करते रहें। यह योजना नौजवानों के हित में नहीं है। सरकार को फौज की पुरानी नौकरी बहाल करनी चाहिए।

अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार की तीखी आलोचना करते हुए कहा है कि सरकार की नकली विकास की परतें खुलती जा रही हैं। खुद सरकारी आंकड़े ही भाजपा सरकार की नकारात्मक उपलब्धियों और झूठे दावों की पोल खोल रहे हैं। जहां पुलिस की हिरासत में मौतों के मामलें में उत्तर प्रदेश नम्बर वन है वहीं केन्द्र सरकार के रोजगार सम्बंधी झूठ की सच्चाई भी सामने आ गई है कि किस तरह लोगों को भ्रमित करने की साजिशें भाजपा रचती है।

पुलिस की हिरासत में मौत होना दरअसल हत्या के बराबर होता है। इस मामले में उत्तर प्रदेश का नम्बर वन होना प्रदेश की भाजपा सरकार पर कलंक से कम नहीं है। उत्तर प्रदेश में सन् 2020 से 2021 तक पुलिस हिरासत में 451 मौतें हुई, वहीं 2021 से 2022 में ये आंकड़ा बढ़कर 501 पहुंच गया है। इस तरह 2020 से 2022 के बीच भाजपा राज में उत्तर प्रदेश में कुल 952 पुलिस हिरासत में मौतें हुई हैं।

भाजपा सरकार केन्द्र की हो या उत्तर प्रदेश की दोनों विकास के सभी मोर्चों पर विफल हैं। भाजपा राज में हर क्षेत्र में आई गिरावट से देश, प्रदेश पिछड़ता जा रहा है। अर्थव्यवस्था डूब रही है, रूपये की कीमत घटती जा रही है और देश का धन लूटकर लोग विदेश भाग रहे हैं। भाजपा राज की यही उपलब्धियां है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here