बारां । राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद राजीविका बारां द्वारा जिला परिषद के सभा भवन मे मेगा क्रेडिट कैम्प का आयोजन किया गया।

केम्प में मुख्य अतिथि एडीएम सुदर्शन सिंह तोमर द्वारा 334 स्वयं सहायता समूह को 3 करोड 35 लाख रूपए की राशि का ऋण वितरित किया गया। इस मौके पर श्री तोमर ने राजीविका स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ऋण वितरण पर बधाई देते हुए विश्वास व्यक्त किया कि समूह की महिलाएं बैंकों से प्राप्त ऋण का सदुपयोग करेगी तथा अपनी आय मे वृद्वि कर समय पर बैंक की ऋण की अदायगी करेगी।

श्री तोमर ने कहा कि महिलाओं की भागीदारी प्रगति का प्रतीक होती है एवं राष्ट्र निर्माण में महिलाओं का सदैव सहयोग रहा है। उन्होंने बैंकों से अपील की कि वह राजीविका के महिला स्वयं सहायता समूहो के ऋण सुलभ कराने मे देरी नहीं करंे तथा समाज की इन गरीब महिलाओं के प्रति सहयोगात्मक रूख रख कर कार्य करें।

बीआरकेजीबी बैक के रिजनल मैनेजर डी.के. मेडतिया द्वारा महिलाओं से ऋण का सदुपयोग करने की अपील करते हुए बताया कि 1995 से अब तक स्वयं सहायता समूह आर्थिक सम्बलता का क्रान्तिकारी प्रमाण है एवं बैक ऋण का तीसरा चरण ही स्वयं सहायता समूह की उद्वेश्य पूर्ति मे सहायक है।

कार्यक्रम मे कैम्प के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाले राजीविका अधिकारियांे एवं कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर रीजनल मैनेजर बीआरकेजीबी डी.के. मेडतिया, चीफ मैनेजर एसबीआई आरके जैन, सीबीआई शाखा प्रबन्धक प्रशान्त, प्रबन्धक एफएलसीसी सीबीआई बारां एवं जिले के विभिन्न शाखाओं के शाखा प्रबन्धकों एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने भाग लिया।