बेसहारों को मिलेगी सर्दी से राहत, आधुनिक रैन बसेरा शुरू

0
112

कोटा. कड़कड़ाती सर्दी में खुले में रहकर अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहे लोगों को बड़ी राहत मिली। घोड़े वाला बाबा चैराहे पर मुख्य मार्ग पर आधुनिक रैन बसेरा प्रारंभ किया गया। रैन बसेरे में उपलब्ध सुविधाओं को देख इसमें रहने आए लोगों के चेहरे खिल गए। पहले ही दिन रैन बसेरा पूरी तरह भर गया।

शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुये सांसद ने कहा कि इस कड़कड़ाती सर्दी में जब हम अपने कमरों में गर्म रजाई में दुबके रहते हैं, ठीक उसी समय कोई व्यक्ति सड़क पर खुले में रहते हुए अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहा होता है। यह समाज के हर सक्षम व्यक्ति का नैतिक दायित्व है कि वह इन अभावग्रस्त लोगों की मदद के लिए आगे आए। आज इस छोटे से प्रयास से इनको जो खुशी मिली है, वही सच्ची खुशी है उन्होंने शहर की प्रमुख संस्थानों से भी आग्रह किया कि वे भी आगे आएं और इसी तरह के और रैन बसेरे लगाकर समाज के जरूरतमंदों को राहत पहुंचाएं।

इस वर्ष रैन बसेरे के माध्यम से लोगो को सर्द रातो ठंड से बचाने का प्रयास है।

एसोसियेशन के द्वारा अकाल, बाढ राहत सहित सेवा के हर कार्यो में समय-समय पर अपना योगदान देते है ओर सेवा के इस कार्य को आगे बढ़ाते रहेगें।

रैन बसेरे में रात्री में निर्धन व बेधर लोगो को सर्दी से बचाऐगा वहीं दिन मेें रैन बसेरे में शहर के युवाओं के द्वारा एसोसिएशन के सहयोग से निर्धन बच्चो को शिक्षा देने का कार्य किया जाता है। रैन बसेरे में आने वाले बच्चो को एसोसिएशन के माध्यम अध्ययन सामग्री उपलब्ध करवाई जाती है।

रैन बसेरे में आई डी की आवश्यकता नही- कोटा ग्रेन एण्ड सीड्स मर्चेन्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि रैन बसेरा रात्रि विश्राम के लिऐ है आने वाले लोगो को आईडी की आवश्यता नही है बाहर से मजदूरी के लिऐ आने वाले लोगो के पास आईडी नही होती है ऐसे में वह भी यहाॅ पर रात्रि विश्राम कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here