बिहार: चौसा थर्मल पावर प्लांट में श्रमिक की मौत, मजदूरों ने रोका काम, मृतक के परिवार के लिए मुआवजे की मांग

1
13

UNA NEWS
बिहार ब्यूरो

बिहार के बक्सर स्थित चौसा थर्मल पावर प्लांट में मजदूर की मौत के बाद हंगामा शुरू हो गया है। दूसरे मजदूरों ने काम बंद कर दिया है। हालांकि पुलिस ने इस मामले की छानबीन शुरू कर दी है। लेकिन मजदूरों ने अपने साथी की मौत के बाद जमकर हंगामा किया और कामकाज पूरी तरह से ठप कर दिया और प्लांट प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

मंगलवार की सुबह वहां काम करने वाले मजदूरों ने काम रोक दिया और मुख्य गेट को बंद कर मुआवजे की मांग करने लगे। मृतक कलाचंद महतो (उम्र लगभग 36 वर्ष) पुरुलिया, बंगाल के रहने वाले थे। हालांकि विरोध कर रहे लोगों का कहना था उनकी मौत दुर्घटना में हुई है। लेकिन, पूछताछ में यह बात सामने आई की वे भोजन करने के बाद आराम कर रहे थे। अचानक स्वास्थ्य खराब हुआ। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह सच्चाई सामने आने के बाद मजदूरों का विरोध नरम पड़ा। लेकिन, वे मुआवजे की मांग को लेकर डटे रहे। मौके पर पहुंचे एसजेवीएन व एलएंडटी के अधिकारियों ने कहा। नियम के अनुरूप जो भी मुआवजा होगा। वह दिया जाएगा। तत्काल मदद के तौर पर 50 हजार रुपये मुहैया कराए गए। साथ काम करने वालों ने बताया कि वह पहाड़पुर कंपनी में काम करता था। रात नौ बजे जब सभी लोग काम से छूटे तो वह अपने क्वाटर में आया। मध्य रात्रि में अचानक ऐसा हो गया।

मजदूर हंगामे पर उतारू न हों। इसको ध्यान में रखते हुए भारी संख्या में पुलिस भी तैनात की गई थी। चौसा थर्मल पावर मुफस्सिल थाना की सीमा में आता है। वहां के थानाध्यक्ष अमित कुमार भी मौके पर मौजूद थे। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा यहां किसी तरह का हंगामा नहीं हुआ। वे लोग मुआवजे की मांग कर रहे थे। कंपनी के लोगों का आश्वासन पाकर उन्होंने गेट भी खोल दिया। पुलिस ने मजदूर का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here