उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा देश की दो महान विभूतियों के जन्म दिन के अवसर पर उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये।

इसके तहत प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में कांग्रेसजनों ने पण्डित मदन मोहन मालवीय एवं पेशावर क्रान्ति के महानायक वीर चन्द्रसिंह गढ़वाली जी की जयंती के अवसर पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हेें श्रद्धा सुमन अर्पित किये।

इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने दोनों महान विभूतियों को प्रेरणा स्रोत बताते हुए कहा कि इन दोनों महानायकों ने पूरे विश्व में भारत के गौरव को बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि जहां पं0 मदन मोहन मालवीय जी ने राष्ट्र की सेवा के साथ-साथ नवयुवकों के चरित्र निर्माण के लिए और भारतीय संस्कृति की जीवंतता को बनाये रखने के लिए मालवीय जी ने काशी हिन्दू विष्वविद्यालय की स्थापना की। मालवीय जी का विश्वास था कि राष्ट्र की उन्नति तभी संभव है। वे जानते थे कि व्यक्ति अपने अधिकारों केा तभी भलीभंाति समझ सकता है जब वह शिक्षित हो। संसार के जो राष्ट्र आज उन्नति के शिखर पर हैं वे शिक्षा के कारण ही हैं। उनसे प्रेरणा लेकर कई अन्य बड़े विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई थी। उन्होंने कहा कि मालवीय जी का उत्तराखण्ड क्षेत्र से भी विशेष लगाव था तथा उन्होने दो बार देहरादून की भी यात्रा की थी।

कांग्रेसजनों ने कहा कि पेशावर क्रान्ति के महानायक वीर चन्द्रंिसह गढ़वाली ने उत्तराखण्ड की वीरता एवं गौरव को बढ़ाया था। स्व0 गढ़वाली उत्तराखण्ड ही नहीं पूरे देशवासियों के लिए प्रेरणा स्रोत रहे हैं तथा उनकी वीरता पर पूरा उत्तराखण्ड गौरवान्वित है।

पुष्पांजलि अर्पित करने वालों में पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण, पूर्व विधायक राजकुमार, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, हरविन्दर सिंह रतन, प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 आर.पी. रतूड़ी, गरिमा दसौनी, प्रदेश सचिव भरत शर्मा, राजेश शर्मा, लाखीराम बिजलवाण, शैलेन्द्र शेखर करगेती, पप्पू कोहली, नागेश रतूडी, मोहन काला, सुनित राठौर, सुधीर सुनेहरा, डाॅ0 मनोज जादौन आदि उपस्थित थे ।