Chhindwara MP

0
26
जिले में सोशल मीडिया एवं विभिन्न इलेक्ट्रानिक
माध्यमों से भ्रामक जानकारी फैलाने पर होगी कार्यवाही
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. श्रीनिवास शर्मा द्वारा दण्ड प्रकिया संहिता-1973 की धारा-144 में प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुये लोकहित के दृष्टिकोण से जन सामान्य के स्वास्थ्य एवं लोक शांति को बनाये रखने के लिये छिन्दवाड़ा जिले की सभी राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक किसी भी व्यक्ति के द्वारा सोशल मीडिया जैसे विभिन्न एप जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, व्हाट्सअप व अन्य इलेक्ट्रानिक माध्यमों से कोविड-19 से संबंधित भ्रामक जानकारी, आपत्तिजनक, साम्प्रदायिक तथा उद्देलित करने वाली भ्रामक पोस्ट, मैसेज या फोटो, वीडियो शेयर और फारवर्डिंग करने अथवा पोस्ट पर कमेंट करने की गतिविधियों को तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है । यह आदेश आम जनता को सम्बोधित है । इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूध्द भारतीय दण्ड संहिता की धारा-188 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी । यह आदेश 27 अप्रैल 2020 से 26 जून 2020 तक लागू रहेगा।
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. शर्मा ने बताया कि यह संज्ञान में आया है कि कुछ व्यक्तियों, समूहों, असामाजिक तत्वों के द्वारा सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम व अन्य इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से भ्रामक जानकारी फोटो, वीडियो मैसेज पोस्ट कर सामाजिक व्यक्तियों में डर व भय का वातावरण निर्मित कर आम जनजीवन को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित किया जा रहा है, जिससे जन सामान्य की मानसिकता एवं स्वास्थ्य व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए जिले में सोशल मीडिया एवं विभिन्न इलेक्ट्रानिक माध्यमों से फैलायी जा रही भ्रामक जानकारी पर रोक लगाया जाना अत्यंत आवश्यक हो गया है । उन्होंने कहा कि वर्तमान में उनके समक्ष ऐसी परिस्थितियां नहीं है, और न ही यह सम्भव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति को दी जाये इसीलिए यह प्रतिबंधात्मक आदेश एक पक्षीय पारित किया गया है । इस संबंध में उन्होंने छिंदवाड़ा रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी, सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों, पुलिस के अनुविभागीय अधिकारियों, नगर दंडाधिकारी सहित सभी तहसीलदारों और थाना प्रभारियों को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।
श्रमिकों के लिए बसों की व्यवस्था  एवं अन्य जिलों से समन्वय
के लिए संयुक्त कलेक्टर श्री वैद्य जिला नोडल अधिकारी नियुक्त
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ भारत सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों के परिपालन में कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. श्रीनिवास शर्मा द्वारा पूर्व में जारी आदेश में आंशिक संशोधन करते हुये भेजे जाने वाले श्रमिकों के लिए बसों की व्यवस्था करने एवं अन्य जिलों से समन्वय कर श्रमिकों को उनके कार्यस्थल पर लौटने की व्यवस्था सुनिश्चित
करने के लिए जिला स्तर से संयुक्त कलेक्टर छिन्दवाड़ा श्री दीपक वैद्य को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्री सुनील शुक्ला इस कार्य के लिये बसों आदि की व्यवस्था में नोडल अधिकारी को सहयोग करेंगे।
     इसके साथ ही कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. शर्मा द्वारा श्रमिकों को भेजे जाने के पूर्व उनका स्वास्थ्य परीक्षण, थर्मल स्क्रीनिंग करने, सर्दी, जुकाम, खांसी एवं बुखार से पीड़ित कोई भी व्यक्ति को न भेजने, यात्रा के दौरान सुरक्षित सोशल डिस्टेंसिंग का पालन एवं स्वास्थ्य विभाग के मानदण्डों के अनुरूप सैनेटाईज किया जाना सुनिश्चित करते हुये यात्रा के दौरान उनके भोजन, पानी की व्यवस्था शासन के निर्देशानुसार सुनिश्चित करने के आदेश दिये हैं। इस कार्य पर किया गया व्यय राहत मद 5504 में विकलनीय होगा। यह आदेश तत्काल प्रभावशील कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा दिये गये निर्देशानुसार राज्यों में फंसे हुए मजदूरों के आवागमन के संबंध में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल के अनुसार प्रवास मजदूर यदि अपने प्रदेश के भीतर स्थित कार्यस्थल पर लौटना चाहते हैं तो उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग की जाना है और यदि उनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं पाये जाते हैं तो उनके कार्यस्थल पर भेजा जा op
“मुख्यमंत्री कोविड-19 योध्दा कल्याण योजना” के अंतर्गत जिले में कोविड-19
के कार्यों में संलग्न आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं अन्य कर्मी पात्र घोषित
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ राज्य शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के परिपालन में एवं  “मुख्यमंत्री कोविड-19 योध्दा कल्याण योजना” के विस्तृत निर्देशों के तहत कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ.श्रीनिवास शर्मा द्वारा कोविड-19 के कार्यों में संलग्न जिले में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों, पर्यवेक्षकों, लिपिकीय अमले के अतिरिक्त आंगनवाडी कार्यकर्ता, सहायिका एवं आउटसोर्स कर्मियों को कोविड-19 में एक्सपोजर एवं उनकी सक्रिय भूमिका को दृष्टिगत रखते हुये “मुख्यमंत्री कोविड-19 योध्दा कल्याण योजना” में पात्र घोषित किया गया है।
उन्होंने बताया कि कोरोना संकट में जिले में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों, पर्यवेक्षको, लिपिकीय अमले के अतिरिक्त आंगनवाडी कार्यकर्ता, सहायिका एवं आउट सोर्स कर्मियों को विभिन्न दायित्व सौंपे गये है एवं रैपिड रेस्पॉन्स टीम में शामिल किया गया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के पालन में आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं द्वारा हितग्राहियों के घर-घर जाकर पोषण आहार वितरण किया जा रहा है तथा ग्राम स्तर पर आंगनवाडी कार्यकर्ता द्वारा आशा कार्यकर्ता के साथ कोविड-19 से सुरक्षा संबंधी परामर्श एवं निर्देशों का अनुपालन कराया जा रहा है। इसे दृष्टिगत रखते हुये योजना के विस्तृत निर्देश की कंडिका 3.4 अनुसार इन कर्मियों को “मुख्यमंत्री कोविड-19 योध्दा कल्याण योजना” में पात्र कर्मी घोषित किया गया है। यह आदेश तत्काल प्रभावशील हो
अब तक जिले में अन्य राज्यों/जिलों से आये 22032 यात्रियों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ जिले में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण और बीमारी की रोकथाम एवं बचाव के लिये जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं । साथ ही राज्य स्तर द्वारा जारी किये गये सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है । जिले में अन्य राज्यों और जिलों से 22 हजार 32 यात्री आये हैं जिनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है । जिला चिकित्सालय में 7 मरीज आईसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं । कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा द्वारा जिले के नागरिकों से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के संबंध में दिये गये दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करने की अपील की गई है।
      मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रदीप मोजेस ने बताया कि अभी तक जिले से कोरोना वायरस के 200 सेम्पल जांच के लिये भेजे गये जिसमें से 5 सेम्पल पॉजिटिव और 174 सेम्पल नेगेटिव पाये गये हैं एवं 18 सेम्पल की जांच लंबित है । ग्राम सिंगोड़ी और शासकीय कन्या शिक्षा परिसर छिन्दवाड़ा के छात्रावास में 91 व्यक्तियों को होम कोरन्टाईन किया गया है । उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय कंट्रोल रूम नंबर 07162-242996 पर संपर्क कर नोवेल कोरोना वायरस और उससे बचाव के संबंध में आवश्यक जानकारी प्राप्त की जा सकती है
160 श्रमिकों को विशेष बसो से उनके गृह जिलो में भेजा गया
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ राज्य शासन के निर्देश पर कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ. श्रीनिवास शर्मा के मार्गनिर्देशन में टोटल लॉक डाउन के दौरान विभिन्न जिलों के ऐसे 360 श्रमिक जिन्हें छिन्दवाड़ा में क्वारन्टाईन किया गया था उनमें से आज 160 श्रमिकों को उनके गृह जिला भेजा गया । संयुक्त कलेक्टर व नोडल अधिकारी श्री दीपक वैद्य तथा क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्री सुनील शुक्ला ने बताया कि आज मंडला, कटनी, जबलपुर, सिवनी, बालाघाट, रीवा, सतना व रायसेन के श्रमिक जो महाराष्ट्र व अन्य जिलों में काम करने के लिये गये थे । लॉकडाउन के दौरान छिन्दवाड़ा से जाते समय उन्हें जिले के विभिन्न स्थलों पर क्वारन्टाईन किया गया था, जहां उनके रूकने के साथ भोजन व अन्य सुविधायें सुनिश्चित करने के साथ उनके हैल्थ चैकअप भी किया गया । क्वारन्टाईन अवधि पूर्ण होने पर हैल्थ चैकअप करने पर वे स्वस्थ है और आज उन्हें उनके गृह जिला विशेष बसों से भेजा जा रहा है । प्रशासन द्वारा श्रमिकों के लिये विशेष बसों में सैनिटाईजर व साबुन, पानी आदि की आवश्यक व्यवस्थायें किये है । श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था से श्रमिक प्रसन्न है और वे मुख्यमंत्री तथा जिला प्रशासन को धन्यवाद दे रहे है ।
14 हजार 56 व्यक्तियों को आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक
और यूनानी रोग प्रतिरोधक औषधि वितरित
छिन्दवाड़ा/ 27 अप्रैल 2020/ जिला आयुष अधिकारी डॉ.किशोर गाडबैल ने बताया कि कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव और नियंत्रण के लिये आज 14 हजार 56 व्यक्तियों को आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक और यूनानी रोग प्रतिरोधक औषधि वितरित की गई है । इसमें 8 हजार 255 व्यक्तियों को आयुर्वेदिक, 4 हजार 783 व्यक्तियों को होम्योपैथिक और 373 व्यक्तियों को यूनानी प्रतिरोधक औषधि वितरित की गई है । इसके अतिरिक्त 645 व्यक्तियों को काढ़ा वितरित किया गया है ।