छिंदवाड़ा:- कृषि क्षेञ में क्रांति लाना है, आज किसान किस चीज से पीड़ित नहीं है,?खाद से ,बीज से, सिंचाई से,हर मामले में उनका शोषण होता है,महत्वपूर्ण बात तो यह है कि किसानो के मामले में न्याय नही हो पाता है, यह बात आज प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छिंदवाड़ा में स्थित अपने शिकारपुर स्थित निवास पर पञकारो से चर्चा करते हुए कही।

कमलनाथ ने उदाहरण भी देते हुए कहाँ कि देश में बरसों से दाल का आयत किया जा रहा है, जब दाल का आयत होगा तो देश के किसानो को दाल के अच्छे मूल्य कहाँ से मिलेंगे।यह गठजोड़ तोडना पडेगा।

पञकारो से बातचीत में कमलनाथ ने कहाँ कि प्रदेश में लेंड अथॉरिटी बनायेंगे जो प्रदेश की सारी वेस्ट लैंड व खाली पडे भवनों को मोनोटाइज करेगी।

वहीं कमलनाथ ने यह भी कहाँ कि वे दिखावे के लिए इनवेस्टर्स मीट नही करेंगे,कमलनाथ ने जानकारी दी कि उनको देश के उधोगपतियो ने बधाई दी है और मिलने के लिए भोपाल आने की जानकारी दी है तो मैने उनसे कहाँ है कि खाली हाथ मत आइये प्रदेश ईए लिए क्या कर सकते है?उसके प्रपोजल के साथ आइये।

कमलनाथ ने आगे बताया कि वे जनवरी के तीसरे सप्ताह में दाओस जायेंगे,जहां वर्ल्ड इकोनामि कांफ्रेस में भाग लेंगे। उन्होने कहाँ कि भोपाल मेट्रो के दूसरे चरण की अभी से तैयारी करने का निर्देश अधिकारियो को दे दिया है। साथ ही उन्होंने कहाँ कि मेट्रो सीमित जगह ही जा सकती है,हमने तो मोनो रेल का प्रोजेक्ट को लाने की योजना सोची है जो डिवाइडर जितनी जगह पर चलती है।

कमलनाथ ने प्रधान मंञी रोजगार योजना को रिव्यू करने की जानकारी दी तो उन्होने कहाँ कि एस टी एक्ट का दुरुपयोग न हो,तो वही किसी के साथ अन्याय भी न हो।की भावना से प्रदेश शासन चलेगा। उन्होने कहाँ कि नौकरी में प्रमोशन पर आरक्षण का मामला कोर्ट में है।

कमलनाथ ने कहाँ कि स्किल ट्रेनिंग से मतलब नही कितनो को रोजगार मिला यह महत्वपूर्ण है।रोजगार दिलाना महत्वपूर्ण है,और वह कोर्स ही युवाओं को सिखाने पर प्रदेश सरकार काम करेगी। कमलनाथ ने स्पष्ट किया कि केंद्रीकृत करके नौकरी प्रदार करने की बजाए जिला स्तर पर नौकरी देने की नीति पर सरकार चलेगी। कमलनाथ ने स्पष्ट किया कि एक्सीडेंट प्राइम मिनीस्टर फिल्म पर प्रदेश में बैन नही लगेगा।