कोटा. जिले के सांगोद से विधायक. भरत सिंह ने टोल पर काम करने वाले एक व्यक्ति की मृत्यु के बाद टोल संचालकों से 5 लाख मुआवजा देने की मांग की है.

इस दौरान टोल वसूल कर रही कंपनी के अधिकारी ने कहा कि एक लाख रुपए तक मुआवजा वे दे सकते हैं यह सुनकर भरत सिंह बिगड़ गए. उन्होंने कहा कि एक लाख रुपए पर्याप्त नहीं है. पूरा टोल रुक जाएगा, लॉ और आर्डर नहीं संभलेगा. इसके बाद मौके पर मौजूद पुलिस वाले से कहा कि इनको बुलाकर समझाओ कि 5 लाख रूपए दे दें. फिर टोल कंपनी के अधिकारी से कहा कि तत्काल पैसों की व्यवस्था कर लो नहीं तो ठोकेंगे तुमको पकड़कर. एक लाशें पड़ी हुई है एक लाश तुम्हारी हो जाएगी. खराब सड़क पर तो टोल वसूलते हैं, फिर मुआवजा राशि देने में इतना जोर क्यों आ रहा है.

जानकारी के अनुसार टोल पर काम करने वाले सिमलिया निवासी टीकम चंद शुक्रवार को बीमारी के चलते मृत्यु हो गई. शनिवार सुबह से उसके परिजन टीकम का शव लेकर टोल टैक्स पर पहुंच गए. जहां पर उन्होंने मुआवजे की मांग शुरू कर दी. इसकी सूचना पर सांगोद से विधायक और पूर्व मंत्री भरत सिंह मौके पर पहुंचे. उन्होंने टोल कर्मियों को फटकार लगाई.

भरत सिंह का कहना है कि टोल कर्मी की मौत हुई है. उसके परिजन को क्षतिपूर्ति का पैसा कंपनी को देना चाहिए. अगर आज 5 लाख रुपए नहीं देते तो कल10 लाख भी हो सकते