जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा आशा वर्कर व सुपरवाइजर के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

0
10

UNA NEWS
सतीश बंसल
सिरसा।

जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा आशा वर्कर व सुपरवाइजर के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण शिविर में जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह ने बतौर मुख्यअतिथि शिरकत की। जिला बाल संरक्षण अधिकारी डा. गुरप्रीत कौर ने बताया कि इंटरनेशनल अडोप्शन माह के तहत प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसमें अडोप्शन रेगुलेशन 2022 के तहत गोद प्रक्रिया के बारे में बताया गया। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति बच्चा गोद लेना चाहता है, वह केराडॉटएनआईसीडॉटइन पर अपना पंजीकरण करवा सकता है। बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया पूरी तरह से कानूनी प्रक्रिया होती है अन्यथा जेजे एक्ट के तहत तीन साल की सजा व जुर्माने का भी प्रावधान है।

उन्होंने कहा कि बच्चों की मानसिकता पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है, जो व्यक्ति अनचाहे बच्चों को अपनी आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण बच्चों को कूड़े के ढेर में छोड़ देते हैं या मंदिर व गुरुद्वारों में छोड़ देते हैं, वे ऐसा न करें। ऐसे बच्चों को शिशु पालना केंद्र या बाल कल्याण समिति को सीधे तौर पर सौंप दें।

बाल संरक्षण अधिकारी डा. अंजना डूडी ने पोक्सो एक्ट, बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया, शिशु पालना केंद्र के बारे में विस्तार से बताया। शिविर में जसप्रित सिंह ने चाइल्ड हेल्प लाइन व एएसआई साइबर क्राइम सुरेंद्र सिंह ने साइबर क्राइम व बचाव की जानकारी विस्तारपूर्वक दी। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में अनिता वर्मा,, सोनिया मित्तल, संतोष, कविता, प्रदीप, मनीष व यशपाल आदि भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here