लघु सचिवालय में लगे पक्का मोर्चा पर ऊंटगाड़ी लेकर पहुंचे किसान, बढ़ने लगी है धरने पर किसानों की संख्या

6
36

सतीश बंसल
सिरसा संवाददाता।

लघु सचिवालय में 258 करोड़ मुआवजा राशि सहित किसानों की अन्य मांगों को लेकर बीकेई का धरना चौथे दिन भी जारी रहा। जैसे-जैसे धरना लंबा होता जा रहा है, वैसे-वैसे किसानों की तादाद भी बढ़ती जा रही है। बीकेई प्रधान लखविंद्र सिंह औलख ने कहा कि वे इस धरने के माध्यम से शांतिपूर्वक अपनी मांगों व समस्याओं को सरकार तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे है, परंतु अभी तक सरकार की तरफ से कोई भी प्रशासनिक अधिकारी किसानों से बात करने नहीं पहुंचा है।

लखविंद्र सिंह औलख ने पंजाब की जीरा फैक्ट्री के मोर्चे की जीत का उदाहरण देते हुए कहा कि लोगों की ताकत और हक सच की लड़ाई के आगे सरकारों को झुकना ही पड़ता है। गांव बकरियांवाली से किसान साथी अपनी ऊंट गाड़ी लेकर मोर्चे का समर्थन करने के लिए पहुंचे। धरना स्थल किसानों ने बाबा भूमण शाह चौक पर पहुंचकर उनका जोरदार स्वागत करते हुए किसान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए धरना स्थल पर उन्हें लेकर आए। बीकेई अध्यक्ष ने कहा कि किसानों को बीज, कीड़ेमार दवाई व खाद को लेकर कई बार शिकायत आ जाती है या फसल खराब हो जाती है।

किसान कृषि विभाग को सूचित करता है। विभाग दुकानदार से शिकायत वाले प्रोडक्ट के 3 सैंपल लेता है, एक सैंपल दुकानदार के पास रहता है और 2 सैंपल विभाग अपने साथ ले जाता है, जिस किसान की शिकायत होती है उसके पास कोई सबूत नहीं रहता है, जिससे कि वह अपनी खराब हुई फसल का क्लेम उस कंपनी के उत्पाद पर कर सके।
इसलिए हमारी मांग है कि जब भी किसी किसान की फसल खराब हो, जब शिकायत के आधार पर कृषि विभाग उस दुकानदार से किसान द्वारा खरीदे गए उत्पाद के 4 सैंपल ले, उसमें से 1 सैंपल शिकायतकर्ता किसान को दिया जाए।

इसके साथ-साथ कृषि मंत्रालय उस उत्पाद को जांच कराने के लिए लैब भी निर्धारित करें, जिस पर किसान शिकायत वाले उत्पाद की जांच करा सके। क्योंकि भ्रष्टाचार के चलते हुए जब भी किसी दुकानदार की सैंपलिंग होती है, वह कुछ लेनदेन करके सैंपल पास करा लेते हैं। ऐसा करने से जो दुकानदार अच्छी कंपनी के अच्छे उत्पाद बेचते हैं, उनका भी फायदा होगा क्योंकि सबस्टेंडर्ड और नकली बीज, कीटनाशक व खाद बेचने वाले दुकानदारों और कंपनियों पर लगाम लगाई जा सकेगी और किसानों की खेती को बचाया जाएगा।

6 COMMENTS

  1. KPSS: Türkiye’de kamu kurumlarında çalışmak isteyen kişilerin girmek zorunda olduğu sınavdır. Bu sınav genellikle Nisan ve Ekim aylarında yapılır ve öğrencilerin Türkçe, matematik, sosyal bilimler, genel kültür, bilgi ve yeterliliklerini ölçer. Başarılı olan adaylar belirlenen pozisyonlara atanabilir.

  2. of course like your web site but you need to check the spelling on several of your posts. Many of them are rife with spelling problems and I find it very troublesome to tell the truth nevertheless I will surely come back again.

  3. Haberler, son dakika haberleri, dünyadan ve Türkiye’den tüm gelişmeler, spor, ekonomi, magazin, yaşama dair her şey… En doğru ve güncel bilgilerle son dakika haberleri şimdi okuyun

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here