Jaunpur l ठाकुर तिलकधारी सिंह के जन्मदिवस को तिलकधारी महाविद्यालय के संस्थापक दिवस के रूप में 28 फरवरी दिन रविवार को बलरामपुर हाल में मनाया गया।

0
172
Jaunpur l ठाकुर तिलकधारी सिंह के जन्मदिवस को तिलकधारी महाविद्यालय के संस्थापक दिवस के रूप में 28 फरवरी दिन रविवार को बलरामपुर हाल में मनाया गया।  माँ सरस्वती की वंदना से कार्यक्रम की शुरुवात हुई तत्पश्चात अतिथियों द्वारा संस्थापक ठाकुर तिलकधारी सिंह के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ महेंद्र सिंह, जलशक्ति मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर कीर्ति सिंह, पूर्व कुलपति, कृषि विश्वविद्यालय तथा श्री कृपा शंकर सिंह, पूर्व गृह राज्य मंत्री, महाराष्ट्र सरकार रहे एवं कार्यकम की अध्यक्षता डॉ राजेश सिंह, कुलपति, दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय ने की।

अपने वक्तव्य में मुख्य अतिथि डॉक्टर महेंद्र सिंह ने कहा कि महाविद्यालय द्वारा जल संचय का प्रबंधन करना ही ठाकुर तिलकधारी  सिंह जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। विशिष्ट अतिथि पूर्व कुलपति डा. कीर्ति सिंह ने कहा कि जनपद आज उनका शुक्रगुजार है, क्योंकि आज उनके कार्य से हर कोई लाभांवित हो रहा है। पूर्व गृहराज्य मंत्री कृपाशंकर सिंह ने अपने आपको महाविद्यालय का छात्र होने पर गौरव बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए गोरखपुर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ राजेश कुमार सिंह ने कहा कि महाविद्यालय छात्रों को अंतरराष्ट्रीय मानकों और प्रतिस्पर्धा के अनुरूप तैयार करें और रोजगार परक शिक्षा का भी प्रबंधन करें।
इसके बाद प्रबंधक अशोक सिंह, प्राचार्य डा. समर बहादुर सिंह, प्रबंध समिति के अध्यक्ष श्री प्रकाश सिंह तथा प्रबंध समिति के स्थायी सदस्य श्री प्रकाश सिंह ने भी अपना संबोधन दिया।

इस शुभ अवसर पर महाविद्यालय द्वारा अपने कार्य तथा दायित्व के प्रति समर्पित पूर्व प्राध्यापकों तथा वर्तमान में कार्यरत प्राध्यापकों एवं अन्य कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। डॉ सरोज सिंह, डॉ अरुण कुमार सिंह, डॉ सत्य प्रकाश सिंह, डॉ रामआसरे सिंह, डॉ ओ पी सिंह, डॉ रुद्र नारायण ओझा, डॉ सुधांशू सिंहा, डॉ आनंद शंकर चौधरी, डॉ ज्ञाननेंद्र धार दुबे, डॉ सुदेश सिंह, डॉ राजीव रतन सिंह, डॉ राजीव प्रकाश सिंह, डॉ विजय प्रकाश सिंह, डॉ अजय कुमार सिंह, डॉ विनय कुमार सिंह, डॉ आलोक कुमार सिंह तथा अवकाश प्राप्त प्राध्यापकों की कड़ी में डॉ ओ पी सिंह, डॉ दिनेश प्रकाश सिंह  रहे। इसजिसमें कड़ी में कुछ कर्मचारियों को भी सम्मानित किया गया जिसमें उषा सिंह, अनिल कुमार सिंह, चंद्र प्रकाश गिरी, मन्ता राम, योगेंद्र, एवं प्रमोद कुमार रहे।

   कार्यक्रम  अवसर पर महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर डॉ वंदना दुबे, डॉ  महेंद्र त्रिपाठी आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे।