झालावाड़। विधानसभा चुनावों के लिए 7 दिसम्बर को होने वाले मतदान को पूर्ण स्वतंत्रता, निष्पक्षता एवं भयमुक्त वातावरण में सफलतापूर्वक सम्पन्न करवाने के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने बताया कि 6 दिसम्बर को प्रातः 7 बजे विधानसभा क्षेत्र मनोहरथाना एवं डग के मतदान दलों को तृतीय प्रशिक्षण के उपरान्त न्यू ब्लॉक स्कूल से मतदान केन्द्रों के लिए रवाना किया जाएगा। तत्पश्चात् प्रातः 10 बजे विधानसभा क्षेत्र झालरापाटन एवं खानपुर के मतदान दलों को तृतीय प्रशिक्षण देकर रवाना किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मतदान दलों की सुविधा के लिए तृतीय प्रशिक्षण के दौरान उनके यथास्थान पर ही ईवीएम व अन्य आवश्यक मतदान सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी ताकि उन्हें पंक्तियों में नहीं लगना पड़े।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1147 मतदान दल बनाए गए हैं और 10 प्रतिशत मतदान दलों को रिजर्व में रखा गया है। मतदान दल में 5 हजार 141 मतदान कर्मी, 96 माइक्रो आब्जर्वर, 58 वैबकास्टिंग ऑफिसर, 110 सेक्टर मजिस्ट्रेट व 21 एरिया मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं।

एरिया व सैक्टर मजिस्ट्रेट रखेंगे निगरानी

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले मेें  विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष रूप से सम्पन्न कराने हेतु सभी मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही प्रत्येक 10 मतदान केन्द्रों पर एक सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 5 एरिया मजिस्ट्रेट तथा पुलिस मोबाइल पार्टी व एरिया मजिस्ट्रेट के समकक्ष राजस्थान पुलिस सेवा (आरपीएस) के नेतृत्व में पुलिस ऑफिसर भी नियुक्त किए गए हैं।
संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर रहेगी विशेष नजर

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले के चिन्हित 108 संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर पैरामिलट्री फोर्स के साथ-साथ माइक्रो आब्जर्वर, वीडियोग्राफर एवं अतिसंवदेनशील मतदान केन्द्रों पर वेबकॉस्टिंग की व्यवस्था भी की गई है। उन्हांने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग, मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा इन मतदान केन्द्रों पर होने वाली गतिविधियों का सीधा प्रसारण देखा जा सकेगा।
तत्काल बदली जा सकेगी खराब ईवीएम

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मॉकपोल (छद्म मतदान) या मतदान के दौरान ईवीएम खराब पाए जाने पर उसे तत्काल बदलने के लिए प्रत्येक सेक्टर एवं एरिया मजिस्ट्रेट को रिजर्व ईवीएम उपलब्ध कराई गई है। इसके अलावा सभी पुलिस थानों, उपखण्ड व तहसील स्तर पर भी रिजर्व ईवीएम उपलब्ध रहेगी ताकि ईवीएम में खराबी की सूचना मिलते ही तुरन्त प्रभाव से खराब ईवीएम को बदला जा सके। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त ईवीएम मशीन की निर्माता कम्पनी भारत इलेक्ट्रिोनिक लिमिटेड (बेल) के इन्जीनियर भी उपस्थित रहेंगे जो ईवीएम से संबंधित समस्या से निपटने के लिए तैयार रहेंगे।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी मतदान कर्मियों को निर्देशित किया है की है कि वे अंतिम प्रशिक्षण के दौरान अपनी आवश्यक सामग्री लेने हेतु निर्धारित समय पर उपस्थित होंवे।

मतदान दलों के लिए रहेगी बसों की व्यवस्था

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान दलों को परिवहन की सुविधा प्रदान करने के लिए बसों एवं मिनी बसों की व्यवस्था की गई है। वहीं मतदान दलों को अब बिस्तर ले जाने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि बिस्तरों की व्यवस्था संबंधित ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत तथा शहरी क्षेत्रों में नगर परिषद् व नगर पालिकाओं द्वारा की गई है।

वृद्ध, दिव्यांगों व बीमार व्यक्तियों के लिए होगी हैल्प डेस्क की व्यवस्था

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले की चारों विधानसभा क्षेत्रों में वृद्ध, दिव्यांगों एवं बीमार व्यक्तियों को मतदान के दौरान पंक्तियों में नहीं लगना पड़े इसके लिए हैल्प डेस्क की व्यवस्था की गई है ताकि वे प्राथमिकता से मतदान कर सकें। वहीं दिव्यांगों के लिए भी व्हील चेयर की व्यवस्था रहेगी।

तृृतीय प्रशिक्षण में भाग लेने वालों के लिए बसों की विशेष व्यवस्था

विधानसभा चुनाव के दौरान 6 दिसम्बर को 2018 को जिले के विभिन्न स्थानों से चुनाव ड्यूटी पर आने वाले कर्मचारियों की सुविधा के लिए राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम झालावाड़ आगार द्वारा रोडवेज बसों की सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 6 दिसम्बर को प्रातः 4 बजे मनोहरथाना से झालावाड़, प्रातः 5.45 बजे अकलेरा से झालावाड़, प्रातः 5 बजे पिड़ावा से झालावाड़, प्रातः 4 बजे चौमहला से झालावाड़, प्रातः 4.30 बजे डग से झालावाड़, प्रातः 5.45 बजे भवानीमण्डी से झालावाड़, प्रातः 5.45 बजे खानपुर से झालावाड के लिए रोडवेज बसों की व्यवस्था रहेगी।