Jharkhand, बोकारो/चास :धार्मिक रिति रिवाज के निर्वहन के साथ सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन हो सख्ती से- अपर नगर आयुक्त, चास

1
257
बोकारो/चास :- आज दिनांक 15-10-2020 को चास नगर निगम के सभागार में अपर नगर आयुक्त श्री शशिप्रकाश झा की अध्यक्षता में चास नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष, सचिव एवं मंदिर कमेटी के गणमान्य प्रतिनिधियों के साथ बैठक की गई। अपर नगर आयुक्त श्री शशिप्रकाश झा ने कहा कि कोविड-19 के मद्देनजर इस वर्ष पूजा का आयोजन धार्मिक रीति रिवाजों के निर्वहन को लेकर करना है। अति उत्साह में नियमों के प्रति लापरवाही से स्थिति गंभीर हो सकती है। वर्तमान परिस्थिति में हमें और भी सावधान व सतर्क रहने की आवश्यकता है। इस समय किसी भी प्रकार की असावधानी खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसे में राज्य सरकार व जिला प्रशासन के दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन करते हुए त्योहार मनाने की जरूरत है। खास तौर पर पूजा पंडालों में भीड़ ना हो, यह सुनिश्चित करने का निदेश अधिकारियों व पूजा समिति के सदस्यों को दिया गया।
*■ कोरोना संक्रमण के प्रकोप के बीच दुर्गा पूजा में अव्यवस्था न हो-*
अपर नगर आयुक्त श्री शशि प्रकश झा ने सभी पूजा कमेटियों के सभी सदस्यों को उपायुक्त -सह- अध्यक्ष जिला आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 30(2) की उपधारा V, VIII, XI एवं XVIII में प्रदत्त शक्तियो के बारे में विस्तार रूप से बताया तथा इसे सख्ती से अनुपालन करने को कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रकोप के बीच दुर्गा पूजा में अव्यवस्था न हो इसको लेकर विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा करते हुए अपर नगर आयुक्त द्वारा संबंधित अधिकारियों व उपस्थित विभिन्न दुर्गा पूजा समिति के सदस्यों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया।
*■ दिशा-निर्देशों का करना होगा अनुपालन :-*
1. दुर्गा पूजा का आयोजन मंदिर, घरों के अलावा छोटे स्तर पर तैयार पंडालों, मंडप में किया जा सकता है, जहां किसी तरह की कोई भीड़ नहीं होगी, सिर्फ पूजा होगी।
2. दुर्गापूजा पंडाल, मंडप को ऐसा बनाया जाना है, जिसमें बाहर से कोई मूर्ति या प्रतिमा नहीं दिख सके और ना भीड़ लग सके।
3. पूजा पंडाल, मंडल किसी प्रकार की थीम पर नहीं बननी चाहिए। पूजा पंडाल, मंडप एवं उसके चारों तरफ किसी भी तरह की लाइटिग से सजावट नहीं होनी चाहिए।
4. किसी भी तरह का तोरण द्वार या स्वागत गेट नहीं बनाया जाएगा। पूजा पंडाल, मंडप सिर्फ ढंका हुआ रहेगा तथा शेष भाग खुला हुआ रहना चाहिए।
5. प्रतिमा की अधिकतम ऊंचाई 04 फीट से अधिक नहीं होनी चाहिए। सार्वजनिक पता प्रणाली का कोई उपयोग नहीं होगा। त्योहार के दौरान किसी भी तरह के मेला का आयोजन नहीं होगा।
6. पूजा पंडाल, मंडप में एक समय में पुजारी, आयोजक एवं उनके सहयोगी को मिलाकर सिर्फ सात लोग ही रह सकते हैं। किसी भी तरह का विसर्जन, जुलूस नहीं निकलेगा। सिर्फ जिला प्रशासन द्वारा चिन्ह्ति तालाबों में सादगी से प्रतीमा  विसर्जन दुर्गा पूजा समिति द्वारा किया जाएगा।
7. किसी भी तरह का कोई प्रसाद, भोग वितरण या भोज कराने की इजाजत नहीं होगी। दुर्गापूजा समिति के आयोजकों द्वारा किसी भी तरह का आमंत्रण नहीं बांटना है।
*■सोलागिडी स्थित  वार्ड विकास केंद्र में वृद्ध आश्रम खोला गया है-*
अपर नगर आयुक्त ने कहा कि दिनांक 29-10-2020 को चास नगर निगम के वार्ड नं 07 के सोलागिडी स्थित  वार्ड विकास केंद्र में वृद्ध आश्रम खोला गया है, जिसकी शुरु उक्त तिथि को होना हैं।
*बैठक के दौरान कार्यपालक पदाधिकारी श्री मनोज कुमार, नगर प्रबंधक श्री मेघनाथ चौधरी,श्री ललित नीलम लकड़ा,श्री विकाश रंजन,श्री अनूप गुंजन, श्री शंकर प्रसाद सिन्हा,  सोमेन मंडल सहित अन्य उपस्थित थे।*(UNA)

1 COMMENT

  1. I just like the helpful information you provide to your articles.
    I will bookmark your weblog and check once more here frequently.

    I’m reasonably sure I will be told lots of new stuff proper right here!
    Best of luck for the next!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here