जम्मू कश्मीर के पुलवामा हाईवे पर गुरुवार की देर शाम सीआरपीएफ के जवानों के वाहनों पर हुए फिदायीन हमला से जनपद का एक जवान शहीद हो गया। टीवी व फोन के माध्यम से जानकारी मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी बच्चे बेसुध हालत में है गाँव में लोगो का जमावड़ा लगा हुआ है परिवार के लोग आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे है तो वही सरकार के खिलाफ नाराजगी भी जाहिर कर कर रहे है। डीएम , एसपी सहित जनपद के प्रशासनिक अधिकारी भी घर पहुंच परिजनों से मिल ढाढस बंधाया वही सूचना पर यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना शहीद के घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया
वीओ –  डेरापुर थाना क्षेत्र के नोनारी का मजरा गुरुगांव के रहने वाले रामप्रसाद का तैतीस वर्षीय बेटा श्यामबाबू 115 वीं बटालियन में सिपाही के पद तैनात था। इंटर की परीक्षा पास करने के बाद 2007 में देश की सेवा करने को crpf में भर्ती हुआ था लगभग 12 साल से देश की सेवा कर रहे थे कल देर शाम crpf के काफिले पर आतंकवादियों ने आत्मघाती हमला किया था जिसमे 44 crpf जवान शहीद हुए हो गए थे जिसमें श्यामबाबू भी शहीद हो गया । मीडिया द्वारा मौत की खबर की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया मां कैलाशी देवी और पत्नी रूबी देवी व दो बच्चे लकी और आरुषि का रो-रोकर बुरा हाल है पत्नी बेसुध हालत पर जमीन पर पड़ी है  जानकारी मिलते ही घर पर हजारों की संख्या में लोगो का तांता लगा हुआ है । घटना की सूचना पर यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना और जनपद के डीएम राकेश कुमार सिंह , एसपी राधेश्याम , एसडीएम सहित प्रशासनिक अधिकारी घर में पहुंच कर परिजनों को ढ़ांढस बंधाते रहे। इस दर्दनाक घटना में मौके पर पहुंचे कैबिनेट मंत्री सतीश महाना डीएम और एसपी अपने आँशु नही रोक सके ,,,,,,,,,,मृतक 2 भाईयों में सबसे बड़ा था। छोटा भाई कमलेश प्राईवेट नौकरी करता है
वही परिजनों की माने तो दुश्मनों ने धोखे से वार कर मेरे लाल को मार दिया है हिम्मत होती तो सामने से लड़कर दिखाते मुझे अपने बेटे पर गर्व है लेकिन सरकार को लेकर नाराजगी जाहिर की उन्होंने सरकार से मांग की है कि इसका मुंहतोड़ जवाब देकर बदला लिया जाये तभी मेरे बेटे की सच्ची श्रदांजलि होगी
वही डीएम राकेश कुमार सिंह और एसपी राधेश्याम शहीद के घर पहुंचे पत्नी और माँ की बेसुध हालत देख अपने आंसू नही रोक सके उन्होंने परिजनों से मिल ढांढस बंधाया डीएम ने बताया कि यूपी सरकार द्वारा 25 लाख की सहायता राशि शहीद परिवार को भेजी गयी है जिसमे शहीद की पत्नी को 20  लाख रुपये और माता पिता को 5 लाख की सहायता राशि दी जायेगी शहीद के अंत्योष्टि के लिये जगह देख रहे है वहां अंतिम दर्शन देखने वालों को लिये रखा जायेगा उस जगह पर सारे इंतजाम किये जायेंगे
 वही शहीद के घर पहुंचे यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया और खुद अपने आंसू नही रोक सके सतीश महाना ने बताया कि देश के प्रधानमंत्री को इस घटना से बहुत बड़ा दुख हुआ है वो लगातार इस पर काम कर रहे है बहुत जल्द ही ठोस निर्णय लेकर इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा भारत सरकार और प्रदेश सरकार की तरफ से सहायता राशि शहीद परिवार को दी जायेगी