KND CONGRESH KA PRADARSHAN
30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पूण्य तिथि पर जहां पूरा देश उनको याद कर रहा था। वहीं दूसरी ओर अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता पूजा पाण्डेय के नेतृत्व में महात्मा गंाधी की प्रतिमा में गोली मारने और राष्ट्रपिता का पूतला फूका विरोध किया था। जिसके बाद काग्रेंस पार्टी घटना में शामिल अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग और सत्ताधारी भाजपा सरकार का संरक्षण प्राप्त होने का आरोप लगाते हुए सड़कों पर उतर आई हैं। केन्द्रीय नेतृत्व में निर्देश पर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर पूरे देश में काग्रेस पदाधिकारी और कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं।
इसी के चलते यूपी के जनपद कानपुर देहात में भी जगह-जगह काग्रेसियों ने प्रदर्शन कर अखिल भारतीय हिन्दू महासभा की पूजा पाण्डेय और उनके सहयोगियों की शीघ्र गिरफतारी और कड़ी सजा देने की मांग के साथ ही प्रदेश की भाजपा सरकार को घेरा। कानपुर देहात के अकबरपुर , माती मुख्यालय सहित कई जगहों में प्रदर्शन कर कार्यवाही की मांग की। प्रदर्शन कर रहे काग्रेसियों ने केन्द्र की मोदी सरकार और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं को बचाने का आरोप भी लगाया।
प्रदर्शन कर रहे काग्रेसियों की माने तो जिस महापुरूष ने देश की आजादी में अहम योगदान दिया था। जिसके चलते पूरा देश उन्हे राष्ट्रपिता कहकर पुकारता हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने अहिंसा के पथ पर चलकर अग्रेजों से देश को आजाद कराया था। आजादी के बाद हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी को उनकी गोलीमार हत्या कर दी थी। जिसके बाद पूरा देश इस दिन को पूण्य तिथि के रूप में मनाकर उन्हे याद करता हैं। इसी के चलते 30 जनवरी को जब पूरा देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 71वीं पूण्य तिथि मना रहा था। वहीं दूसरी ओर एक बार फिर हिन्दू महासभा की पूजा पाण्डेय के नेतृत्व में उनकी प्रतिमा को गोली मारने और उनका पूतला दहन कर राष्ट्रपिता और देश का अपमान किया था। लेकिन केन्द्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार ऐसे लोगो को बचा रही हैं। इसी के चलते काग्रेस पार्टी कार्यवाही की माग को लेकर सड़कों में प्रदर्शन कर विरोध दर्ज करा रही हैं। साथ ही कार्यवाही न होने तक लड़ाई जारी रखने का ऐलान किया।