करकटगढ़: कर्मनाशा में आयी बाढ़, 400 लोगों को सुरक्षित निकाला

0
44

UNA NEWS
श्याम सुंदर कुमार/संवाददाता
कैमूर।

कैमूर जिला के चैनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत करकटगढ़ जलप्रपात पिकनिक मनाने गये लगभग 400 लोगों को रेस्क्यू टीम द्वारा बचाया गया। बचाने का कार्य रविवार देर रात तक चलता रहा।

जानकारी के अनुसार सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। 10 जुलाई को बक़रीद की छुट्टी लोग करकटगढ़़ में भारी संख्या में लोग पिकनिक मनाने के लिए पहुंचे थे। लोग कर्मनाशा नदी को पार करके नदी के दूसरे छोर पर पिकनिक मनाने के लिए चले गए।

लगभग 2:32 बजे के करीब अचानक जलस्तर बहुत ज्यादा बढ़ गया और करीब 400 लोग जो पिकनिक मनाने गए थे जिनमें महिला, पुरूष एवं छोटे बच्चे नदी के दुसरे छोर पर फंस गए। नदी के दूसरे छोर से लगभग 12 से 17 किलोमीटर दूर लोगों की आबादी है।

नदी के दूसरे छोर पर फंसे लोगों ने किसी तरह इसकी सूचना चैनपुर थाने को दी, जिसके बाद चैनपुर पुलिस टीम एवं चैनपुर अंचलाधिकारी के द्वारा बचाव कार्य के लिए एक टीम तत्काल मौके पर पहुंच गई।

इससे संबंधित जानकारी लेने पर चैनपुर थानाध्यक्ष संजय कुमार द्वारा बताया गया कि नदी के दूसरे छोर पर लोग फंसे हुए हुए थे, इसकी सूचना रविवार करीब 3:00 बजे प्राप्त हुई जिसपर तत्काल वरीय पदाधिकारी को सूचना देते हुए चैनपुर सीओ पुरेंद्र कुमार सिंह के साथ करकटगढ़़ जलप्रपात पहुंचे। उस समय यह मालूम नहीं था कि इतनी भारी संख्या में लोग फंसे हुए हैं। वहां जाने पर पता चला कि लगभग 400 लोग फंसे हुए थे। स्थानीय जुगाड़ व्यवस्था से ट्यूब के सहारे नदी के दूसरे छोर पर पहुंचकर पेड़ में रस्सी बांधते हुए लोगों को धीरे-धीरे नदी पार कराया गया।

दूसरी तरफ एक आदमी को यूपी में स्थित औरवा टांड़ डैम जहां से पानी को छोड़ा गया था वहां भेजकर तत्काल डैम के पानी को रुकवाया गया। डैम की दूरी करकटगढ़़ से लगभग 14 किलोमीटर थी। जलस्तर कम होने के बाद पिकनिक मनाने पहुंचे महिला, पुरुष और बच्चे सभी लोगों को सुरक्षित करकटगढ़़ लाया गया, जहां से सभी को सुरक्षित घर भेज दिया गयापुरूष इस बचाव कार्य में लगभग रात 11 बजे गएपुरूष स्थानीय लोगों एवं वन विभाग के साथ अन्य लोगों के सहयोग से सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here