Kolkata: कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा गठित एक समिति ने विश्वभारती प्रशासन और बीरभूम जिला प्रशासन से कहा है कि वे सौहार्दपूर्ण ढंग से परिसर में मैदान के चारों ओर चहारदीवारी खड़ी करने की समस्या को सुलझाने के लिए तालमेल के साथ काम करें

0
216

कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा गठित एक समिति ने विश्वभारती प्रशासन और बीरभूम जिला प्रशासन से कहा है कि वे सौहार्दपूर्ण ढंग से परिसर में मैदान के चारों ओर चहारदीवारी खड़ी करने की समस्या को सुलझाने के लिए तालमेल के साथ काम करें। अदालत की चार सदस्यीय समिति ने विश्वविद्यालय, स्थानीय लोगों और छात्रों के बीच विवाद का केंद्र बने पौष मेला मैदान और आसपास के क्षेत्रों का निरीक्षण किया। संस्थान के एक सूत्र ने कहा कि मैदान में पहुंचने के बाद, समिति ने दो घंटे बैठक की, जिसमें विश्वविद्यालय और जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।बैठक में कुलपति विद्युत चक्रवर्ती भी शामिल हुए। विश्वविद्यालय ने कहा, “यह निर्णय लिया गया है कि विश्वभारती प्रशासन और जिला प्रशासन गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित इस संस्थान की गरिमा और पवित्रता को बनाए रखते हुए किसी भी समस्या को सुलझाने के लिए साथ मिलकर काम करेंगे।”(UNA)