Kolkata पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की बड़ी खेप शनिवार को बीजेपी में शामिल हो गई है। ममता बनर्जी के लिए यह तगड़ा झटका है,

0
109

Kolkata पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की बड़ी खेप शनिवार को बीजेपी में शामिल हो गई है। ममता बनर्जी के लिए यह तगड़ा झटका है, वहीं बीजेपी अब बंगाल में पहले से भी ज्यादा मजबूत हो गई है। सुवेंदु अधिकारी समेत 10 टीएमसी विधायक, एक सांसद और एक पूर्व सांसद ने अमित शाह की जनसभा में बीजेपी जॉइन की। सुवेंदु के अलावा बर्धमान पूर्व से सांसद सुनील कुमार मोंडल, टीएमसी के 6 विधायक समेत एक-एक सीपीआई, सीपीएम और कांग्रेस के विधायक भी बीजेपी से जुड़ गए। बड़े नेताओं के अलावा बड़ी संख्या में जिला स्तर के नेता और पार्षदों ने भी बीजेपी का दामन थाम लिया। जहां एक ओर टीएमसी ने बागियों को वायरस की संज्ञा देते हुए छुटकारा मिलने की बात कही, वहीं अमित शाह ने हुंकार भरते हुए कहा एक दिन ममता बनर्जी टीएमसी में अकेली रह जाएंगी। आप भी जानिए, अमित शाह की रैली में बीजेपी में शामिल होने वाले कौन हैं ये नेता- सुवेंदु अधिकारी

20 साल की उम्र में सुवेंदु अधिकारी कांग्रेस छात्र परिषद नेता के रूप में 1996 में मिदनापुर में कोऑपरेटिव आंदोलन में शामिल हुए। तीन साल बाद वह टीएमसी से जुड़ गए। नंदीग्राम आंदोलन के दौरान ममता बनर्जी के विश्वासपात्र बन गए। टीएमसी के एक धड़े के अनुसार, उन्होंने 2011 विधानसभा चुनाव में ममता सरकार बनवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह 2009 और 2014 में तामलुक से सांसद रहे। 2016 में उन्होंने सांसद पद से इस्तीफा दे दिया और नंदीग्राम से आंदोलन चुने गए। वह ममता बनर्जी सरकार में नंबर दो के नेता थे।