Kolkata: श्रम मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में 1.03 करोड़ लोग नौकरी की तलाश

0
3

श्रम मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में 1.03 करोड़ लोग नौकरी की तलाश कर रहे हैं, लेकिन अलग-अलग राज्यों में फिलहाल पौने दो लाख नौकरियां ही मौजूद हैं। सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल के लोगों ने नौकरी के लिए रजिस्ट्रेशन किया है। सरकार के नेशनल करियर सर्विस पोर्टल के जरिए लोगों ने नौकरी मांगी है।  सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, पश्चिम बंगाल से 23.61 लाख लोगों ने इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किया है। नौकरी की जरूरत के मामले में यूपी दूसरे नंबर पर है। यहां 14.62 लाख लोग नौकरी तलाश रहे हैं। तीसरे नंबर पर महाराष्ट्र में 13.32 लाख, चौथे नंबर पर बिहार में 12.32 लाख और पांचवें नंबर पर राजस्थान में 6.17 लाख लोग फिलहाल नौकरी तलाश रहे हैं। दिल्ली में 90 हजार, हरियाणा में 71 हजार, झारखंड में 93 हजार और उत्तराखंड में 49 हजार लोगों ने नौकरी के लिए नेशनल करियर सर्विस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है। सरकार की तरफ से दिए गए ये आंकड़े पोर्टल की शुरुआत से लेकर 31 अगस्त 2020 तक के हैं।
गुजरात में ज्यादा नौकरियां- बेरोजगारी के आंकड़ों के मुकाबले देश में नौकरियों की उपलब्धता बेहद कम है। देशभर में अलग अलग राज्यों में इन सभी लोगों के लिए केवल 1.77 लाख नौकरियां ही उपलब्ध हैं। इनमें सबसे ज्यादा 6,642 नौकरियां गुजरात में उपलब्ध हैं। इसके बाद पश्चिम बंगाल दूसरे नंबर पर है। यहां 4,031 नौकरियां हैं। बिहार में 3,776, हरियाणा में 897, दिल्ली में 1,804, यूपी में 1,188, वहीं झारखंड में 216 नौकरियों के विकल्प मौजूद हैं। पोर्टल पर हेल्थ, एजुकेशन, एविएशन, होटल, टूरिज्म, फाइनेंस, ट्रांसपोर्ट मैन्युफैक्चरिंग और आईटी समेत 20 से ज्यादा क्षेत्रों में नौकरी देने वाले 50 से ज्यादा संस्थाएं रजिस्टर्ड हैं। फिलहाल सूचना और प्रसारण के साथ साथ प्लेसमेंट एजेंसीज में नौकरियों के सबसे ज्यादा मौके मौजूद हैं।
लॉकडाउन के बाद नौकरियां बढ़ीं- देश में जिस रफ्तार से लॉकडाउन हट रहा है, उसी हिसाब से नौकरी देने वालों की भी तादाद बढ़ी है। अप्रैल में जहां देश भर में सिर्फ 16 नौकरियां थीं, मई में ये सुस्त चाल से बढ़कर 134 पर पहुंच गईं। हालांकि इसके बाद इनमें रफ्तार देखी जा रही है। जून में 24,329, जुलाई में 49,542, और अगस्त में 1.03 लाख नौकरियों के मौके उपलब्ध हो गए हैं।(UNA)