न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद हेतु पोर्टल पर पंजीकरण प्रारम्भ

कोटा संभाग में 15 मार्च से होगी गेहूं की खरीद

झालावाड़। प्रदेश में गेहूं की फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य ₹1840 प्रति क्विंटल पर  बेचने के लिए कृषक भारतीय खाद्य निगम के पोर्टल पर पंजीकरण करवा सकते हैं। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री रमेश चन्द मीणा ने बताया कि कोटा संभाग में आगामी 15 मार्च से गेहूं की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी। भारतीय खाद्य निगम के पोर्टल पर पंजीकरण 5 मार्च से प्रारम्भ हो गया है।

पोर्टल पर पंजीकरण हेतु यह दस्तावेज साथ लाएं

खाद्य मंत्री ने बताया कि कृषक भारतीय खाद्य निगम के पोर्टल पर पंजीकरण हेतु फोटो पहचान पत्र, आधार कार्ड, राशन कार्ड, जॉब कार्ड, लाइसेंस, किसान क्रेडिट कार्ड एवं पासपोर्ट साथ लेकर निकटतम ई मित्र केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने बताया कि पंजीकरण हेतु कृषक फसल संबंधी दस्तावेज, जमाबंदी, किसान पासबुक, गिरदावरी एवं बैंक पासबुक की फोटो प्रति भी साथ लेकर जाएं। उन्होंने बताया कि कृषक भारतीय खाद्य निगम के अधिकृत पोर्टल बिपकमचवजवदसपदमण्हवअण्पदध्ंितउमतेध्सवहपद पर स्वयं भी पंजीकरण करा सकते हैं।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का हुआ लोकार्पण   

झालावाड़ । प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लोकार्पण भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अहमदाबाद गुजरात से किया गया। जिसका सीधा प्रसारण एवं कार्यशाला का आयोजन मंगलवार को गणपति प्लाजा मोटर गैराज रोड झालावाड में किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला रसद अधिकारी मनीषा तिवारी ने बताया कि असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा अधिनियम, 2008 के अन्तर्गत असंगठित श्रमिकों को वृद्धावस्था सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा जारी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना का शुभारम्भ किया गया है।

उन्होंने बताया कि नजदीकी सीएससी केन्द्र (कॉमन सर्विस सेंटर) पर जाकर ऑनलाईन पंजीकरण कराने के बाद तुरंत प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना कार्ड दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कामगारांे को पंजीकरण के लिए पेंशन के अंशदान की पहले माह की किश्त नगद देनी होगी। जिसकी उन्हें रसीद दी जाएगी। आगामी माह में पात्र व्यक्ति की अंशदान राशि हर माह उसके बैंक खाते से काटी जाएगी। उन्होंने बताया कि योजना में पंजीकरण 15 फरवरी से प्रारम्भ हो गया है।

उन्होंने बताया कि असंगठित कामगारों को उनकी उम्र के हिसाब से अपना मासिक अंशदान देना होगा और उतना ही मासिक अनुदान सरकार भी जमा कराएगी। यदि कोई मजदूर 18 वर्ष की आयु में पंजीकरण कराता है तो उसे 55 रुपए ही अंशदान देना होगा। वहीं 29 वर्ष की आयु वाले को 100 रुपए व 40 वर्ष वाले को 200 रुपए मासिक अंशदान देना होगा।

योजना की जानकारी देते हुए श्रम कल्याण अधिकारी ने बताया कि मजदूर के साथ-साथ घरों में काम करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले, फेरी वाले, ईंट भट्टा कामगार, मिड डे मील वर्कर, कचरा बीनने वाले, रिक्शा व ठेला चलाने वाले, मोची, ग्रामीण, भूमिहीन श्रमिक आदि मजदूर भी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना का लाभ ले सकेंगे।

उन्होंने बताया कि योजना में 18 से 40 साल तक की उम्र के व्यक्ति जिनकी आय 15 हजार मासिक से कम हो, वे ही पात्र होंगे। योजना के लिए व्यक्ति का आधार, बैंक खाता व जनधन खाता होना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि योजना के अन्तर्गत 60 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर तीन हजार रुपए मासिक पेंशन बीमित व्यक्ति को आजीवन देय होगी।

उन्होंने बताया कि पंजीकरण एवं प्रीमियम के लिए आवेदक को अलग से कोई शुल्क नहीं देना होगा। सीएससी केन्द्रों पर इसके लिए निःशुल्क पंजीकरण व कार्ड दिया जाएगा। पंजीकरण की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है। पंचायत स्तर तक इस योजना को पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। जब लाभार्थी को 60 साल की उम्र में पेंशन मिलना प्रारम्भ हो जाएगी तो उसमें जीवन साथी का 50 फीसदी हक होगा। लाभार्थी की मृत्यु हो जाने पर उसके नॉमिनी को यह पेंशन मिलेगी। किसी लाभार्थी को यदि बीच में राशि की जरूरत पड़ी तो वह निकाल सकता है, लेकिन एक बार राशि निकालने के बाद वह जमा नहीं करा सकेगा।

मास्टर प्लान तैयार करेंगेकलक्टर

जिला स्तरीय पर्यटन विकास समिति की बैठक आयोजित

बारां। जिला कलक्टर इन्द्रसिंह राव ने कहा कि जिले में ऐतिहासिक, पुरातत्व एवं धार्मिक महत्व से जुड़े स्थलों के संरक्षण, संवर्धन एवं पर्यटन की संभावनाओं के विकास हेतु मास्टर प्लान तैयार कर कार्य किया जाएगा।

कलक्टर राव मिनी सचिवालय सभागार में जिला स्तरीय पर्यटन विकास समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले में पर्यटन की अपार संभावनाएं मौजूद हैं इसके लिए ऐतिहासिक एवं पर्यटन महत्व के स्थलों का चरणबद्ध विकास किया जाएगा जिसके लिए शाहबाद के किले, शेरगढ़ के किले, भण्डदेवरा, रामगढ माताजी समेत विभिन्न स्थलों का संबंधित विभागों के साथ भौतिक निरीक्षण कर मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा और बजट के उपलब्धता के अनुरूप चरणबद्ध विकास किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि जिले में पर्यटन के विकास एवं धरोहर संरक्षण के कार्य को आमजन के सुझाव व सहभागिता से किया जाएगा। बैठक में पर्यटक स्वागत केन्द्र झालावाड़ के सिराज कुरेशी ने बैठक का एजेन्डा प्रस्तुत करते हुए शाहबाद के किले समेत विभिन्न स्थलों के संबंध में जानकारी दी।

बैठक में शाहबाद के किले, शेरगढ़ के किले, रामगढ़ के किले का भौतिक निरीक्षण कर मास्टर प्लान तैयार करने के निर्देश दिए गए। इसी क्रम में पुरातत्व विभाग के अधिकारी ने बताया कि भण्डदेवरा के संरक्षण व विकास हेतु डीपीआर तैयार की जा रही है। देवस्थान विभाग के अधिकारी ने बताया कि रामगढ़ माताजी के मंदिर की दीवार की मरम्मत एवं जीर्णोंद्धार का कार्य ठेकेदार व पीडब्ल्यूडी के आपसी समन्वय के अभाव में पूर्ण नहीं हो पा रहा है। इस पर कलक्टर राव ने कहा कि रामगढ़ माताजी का मंदिर आस्था का केन्द्र है अतः पीडब्ल्यूडी संबंधित ठेकेदार को पाबंद कर लंबित कार्य शीघ्र कर पूर्ण रिपोर्ट प्रस्तुत करें। इसी क्रम में वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि शाहबाद के किले के भीतर महानरेगा योजना के तहत साफ-सफाई का कार्य करवाया गया है। शेरगढ़ सेंचुरी में सेंचुरी डवलपमेंट हेतु आर-पैक के माध्यम से 121 करोड़ रूपए आवंटित हुए हैं। इसी क्रम में देवस्थान विभाग के अधिकारी ने बताया कि रामगढ़ में निजी फर्म द्वारा सर्वे के बाद रोपवे का कार्य नहीं करवाया जा रहा है क्योंकि इससे फर्म को पर्याप्त आमदनी मिलने की संभावना नहीं है। शाहबाद के समीप ट्राईबल सेन्टर विकसित करने के संबंध में एडीएम शाहबाद से एक सप्ताह में रिपोर्ट मांगी गई है। वन विभाग ने सोरसन में 2 किमी क्षेत्र में दीवार बनाने की जानकारी दी। रामगढ़, भण्डदेवरा में क्रेटर के संबंध में इंटेक के प्रतिनिधि ने बताया कि क्षेत्र में केमिकल स्टडी के बाद क्रेटर की संभावनाएं प्रबल हुई है। बैठक में आयुक्त नगर परिषद को डोल तालाब क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने एवं सौंदर्यकरण की डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए गए। वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि डोल तालाब क्षेत्र के बघरूधाम में वन विभाग द्वारा 350 पौधे लगाए जाएंगे। बैठक में शाहबाद व मांगरोल दरवाजा के जीर्णोंद्धार, बारां के गजनपुरा में निर्माणाधीन फूड क्राफ्ट इंसटीट्यूट के कार्य आदि के संबंध में चर्चा कर संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए। इस अवसर पर आयुक्त नगर परिषद मनोज मीणा, कोषाधिकारी धीरज कुमार सोनी, पीआरओ विनोद मोलपरिया, पुरातत्व विभाग, देवस्थान विभाग, इन्टेक के प्रतिनिधि आदि मौजूद थे।

48 रन से जीती रेलवे मजदूर संघ की क्रिकेट टीम

प्रेस क्लब के मकसूद अली रहे मैन ऑफ मैच

कोटा। पश्चिम मध्य रेलवे कोटा मण्डल के खेलकूद मैदान में वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ इलेवन टीम व प्रेस क्लब कोटा की टीम के बीच मैत्री मैच का आयोजन किया गया। जिसमें वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ इलेवन टीम ने 48 रन से जीत हासिल की।

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ कोटा मण्डल के मण्डल सचिव अब्दुल खालिक ने बताया कि मैच में सबसे ज्यादा 91 रन बनाने वाले प्रेस क्लब टीम के मकसूद अली को मैन ऑफ द मैच का अवार्ड दिया गया। तीन विकेट लेने वाले फास्ट बॉलर ईसान सोहेल को बेस्ट बॉलर का अवार्ड दिया गया तथा क्रिकेट मैच में रेलवे मजदूर संघ इलेवन टीम के खिलाड़ी रामप्रसाद मीणा को ऑल राउण्डर का अवार्ड दिया गया। जिन्होंने एक विकेट लिया, एक रन आउट किया व 16 बॉलों पर 6 छक्के लगाकर कुल 45 रन बनाये। क्रिकेट मैच में अम्पायरिंग भगवान सिंह एवं राजीव कुमार पाण्डेय द्वारा की गई।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व यूआईटी चैयरमेन रविन्द्र त्यागी व प्रेस क्लब कोटा के अध्यक्ष गजेन्द्र व्यास, सचिव जितेन्द्र शर्मा, उपाध्यक्ष प्रताप सिंह तोमर, संयुक्त सचिव गिरीश गुप्ता, कार्यकारिणी सदस्य राजेन्द्र हाड़ा, संजीव सक्सेना भी उपस्थित थे। शहर कांग्रेस अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी ने रेलवे मजदूर संघ की सराहना करते हुए कहा कि रेलवे मजदूर संघ द्वारा रेल कर्मचारियों के हितों में कार्य करने के साथ-साथ रेलवे में सामाजिक कार्यक्रम जैसे रक्तदान शिविर, वृक्षारोपण, महिला जागरूकता, नेत्र जांच शिविर, स्वास्थ्य चेकअप केम्प के साथ-साथ विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताओं जैसे क्रिकेट, वॉलीबॉल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस आदि आयोजन किया जाता है, जो कड़ी मेहनत कर रेल की ड्यूटी करने वाले रेल कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए भी लाभप्रद है। उन्होंने संघ से प्रेरणा लेकर कांग्रेस कमेटी एवं प्रेस क्लब कोटा के मध्य शीघ्र मैत्री क्रिकेट मैच की भी घोषणा की।

इस अवसर पर प्रेस क्लब कोटा के अध्यक्ष गजेन्द्र व्यास ने कहा कि मीडया के साथ रेलवे मजदूर संघ का काफी सहयोग रहता है एवं हमारी मीडिया भी लोकतंत्र में चौथे स्तम्भ का काम करती है एवं सच्चाई को जनता के सामने रखने का काम करती है।