रेल यात्रियों को दी ईवीएम वीवीपेट से मतदान की जानकारी 

झालावाड़ । सुव्यवस्थित मतदाता शिक्षा और निर्वाचक सहभागिता (स्वीप) कार्यक्रम के तहत आगामी 29 अप्रेल, 2019 को होने वाले लोकसभा चुनाव में शत प्रतिशत मतदान के उद्देश्य से झालावाड़ रेलवे स्टेशन पर आने जाने वाले यात्रियों को इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) एवं वोटर्स वेरिफाईएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपेट) के माध्यम से मतदान प्रक्रिया की जानकारी दी गई। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी झालावाड़ मोहनलाल प्रतिहार, स्वीप के सह प्रभारी एवं सहायक निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क हेमन्त सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

वहीं झालावाड़ रेलवे स्टेशन से पहली बार रवाना होने वाली कोटा-गंगानगर सुपरफास्ट एक्सप्रेस के यात्रियों को ईवीएम वीवीपेट द्वारा डमी वोट डलवाकर मतदान प्रक्रिया की जानकारी दी गई। साथ ही इसी दिन मिनी सचिवालय स्थित उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में आने वाले व्यक्तियों को भी ईवीएम वीवीपेट द्वारा मतदान प्रक्रिया की जानकारी देकर मतदान हेतु जागरूक किया गया।

किसानों को मतदान के लिए किया जागरूक

पीएनबी के किसान प्रशिक्षण केन्द्र झालरापाटन में मंगलवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान मोल्याखेड़ी के करीब 30 किसानों व झालावाड़ की 20 महिलाओं एवं युवतियों को ईवीएम वीवीपेट द्वारा डमी वोट डलवाकर मतदान प्रक्रिया की जानकारी देकर लोकसभा चुनाव में अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने के लिए जागरूक किया।

झालावाड़ के रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! लंबे इंतजार के बाद शुरू हुई कोटा-श्रीगंगानगर एक्सप्रेस

झालावाड़ जिले के नागरिकों को आज से एक नई रेल सेवा की सौगात मिल गई, कोटा-श्रीगंगानगर एक्सप्रेस ट्रेन के आज से झालावाड़ तक विस्तार किए जाने के बाद पहली बार यह ट्रेन आज झालावाड़ सिटी रेलवे स्टेशन पर जैसे ही पहुंची तो झालावाड़ के लोगों में हर्ष की लहर दौड़ गई, इस दौरान ढोल बाजे के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे विभिन्न व्यापारिक, सामाजिक व राजनीतिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टाफ का पारंपरिक रूप से साफा बंधवाकर व माल्यार्पण कर गर्मजोशी से स्वागत किया.

गौरतलब है कि झालावाड़ से जयपुर तक एक भी सीधी रेल सेवा ना होने के चलते इलाके के व्यापारियों , किसानों, छात्रों व आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था, इसी मुद्दे को लेकर कई बार झालावाड़ के राजनीतिक संगठनों व आम लोगों ने भी रेलवेबोर्ड व सांसद दुष्यंत सिंह से कोटा-श्रीगंगानगर ट्रेन को झालावाड़ तक विस्तार किए जाने की मांग की थी, जिस पर सांसद दुष्यंत सिंह ने रेल मंत्री पीयूष गोयल से भी इस ट्रेन को झालावाड़ तक विस्तार देने को लेकर पत्र लिखे थे, जिस पर रेलवे बोर्ड ने कुछ दिन पहले ही निर्णय करते हुए इस ट्रेन का विस्तार झालावाड़ तक कर दिया, रेलवे के अधिकारियों के अनुसार झालावाड़ के नागरिकों को इस ट्रेन की सुविधा सप्ताह में 3 दिन बुधवार, गुरुवार, व रविवार को मिल सकेगी.

वहीं आज कोटा-श्रीगंगानगर ट्रेन से पहली बार झालावाड पहुंचे इलाके के यात्रियों ने भी इस ट्रेन के झालावाड़ तक विस्तार किए जाने को लेकर खासी खुशी जाहिर की है, यात्रियों का कहना था कि इस ट्रेन के झालावाड़ तक विस्तार किए जाने से जिले के लोगों को जयपुर तक सीधी रेल सेवा मिल सकेगी, अब उन्हें कोटा जाकर जयपुर के लिए ट्रेन नहीं पकड़नी पड़ेगी, और ना ही बसों में धक्के खाने पड़ेंगे, वहीं व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने भी इस रेल सेवा के विस्तार को लेकर सांसद दुष्यंत सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व रेलवे बोर्ड का आभार जताया

जिले में समर्थन मूल्य पर खरीद एवं 

खरीद केन्द्रों पर व्यवस्थाओं के संबंध में बैठक आयोजित

बारां । जिले में रबी वर्ष 2019-20 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहंू, सरसों व चना की खरीद एवं खरीद केन्द्रों पर व्यवस्था, भण्डारण आदि के संबंध में जिला कलक्टर इन्द्रसिंह राव एवं अतिरिक्त आयुक्त खाद्य रश्मि गुप्ता ने मिनी सचिवालय में बैठक लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए।

बैठक में कलक्टर राव एवं अतिरिक्त आयुक्त खाद्य ने जिले में खरीद केन्द्रों, न्यूनतम समर्थन मूल्य आदि के संबंध में जानकारी लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि खरीद केन्द्रों पर समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जानी चाहिए जिससे किसी प्रकार की अव्यवस्था न हो। इस मौके पर वर्ष 2019-20 में गेहंू, चना व सरसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य, खरीद केन्द्र, भण्डारण की व्यवस्था, बारदाने की उपलब्धता आदि के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई। अधिकारियों ने बताया कि जिले में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कृषि जिन्स के खरीद केन्द्रों के तहत गेहूं खरीद केन्द्र के लिए 44000 एम.टी. का कोटा आवंटित है जो भारतीय खाद्य निगम के छबड़ा, बारां, मांगरोल, सीसवाली, अटरू में, राजफेड के छीपाबडौद, तिलमसंघ के अन्ता स्थित खरीद केन्द्रों पर खरीद किया जाना है। इसी क्रम में चना खरीद केन्द्र के तहत राजफेड द्वारा बारां, अन्ता, अटरू, समरानिया, छबड़ा व छीपाबडौद में खरीद केन्द्र निर्धारित है। सरसों खरीद केन्द्र के तहत राजफेड द्वारा बारां, अन्ता, अटरू, छीपाबडौद, समरानियां, नाहरगढ व छबड़ा में खरीद केन्द्र निर्धारित किए गए है।

बैठक में बताया गया कि जिले में काश्तकार को अपनी जिन्स खरीद केन्द्र पर लाकर तुलवाने हेतु अपने मोबाइल से ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। पूर्व में एक मोबाईल नम्बर से एक से अधिक काश्तकार की जिन्स सम्बन्धित रजिस्ट्रेशन हो सकता था परन्तु अब इस हेतु एक मोबाईल नम्बर से एक ही काश्तकार का रजिस्ट्रेशन हो सकेगा। जिले में गेहूं एवं सरसों की खरीद 15 मार्च 2019 से जिन्सों की खरीद हेतु निर्धारित किये गये खरीद केन्द्रों पर खरीद की जानी प्रस्तावित है। चने की खरीद 25 मार्च 2019 से किया जाना प्रस्तावित है। खरीद केन्द्रों पर पानी, बिजली, नाश्ता, खाना, पार्किंग आदि समस्त व्यवस्थाएं मण्डियों द्वारा की जावेगी। सामान्य व्यवस्थाओं हेतु के अतिरिक्त अन्य समस्त व्यवस्थाएं खरीद एजेन्सी द्वारा की जावेगी। कलक्टर राव ने भण्डारण व बारदानों की व्यवस्थाओं हेतु तीनों खरीद एजेन्सियों भारतीय खाद्य निगम, तिलम संघ एवं राजफेड के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिले की समस्त मण्डियों में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर जिन्सों की खरीद बाबत् समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।