एलन टैलेंटेक्स-2019 अवार्ड समारोह में जुटा देश का टैलेंट

छह बार वर्ल्ड चैम्पियनशिप की गोल्ड मेडल विजेता मेरीकॉम का मिला मार्गदर्शन

श्रेष्ठ स्टूडेंट्स को 1.25 करोड़ के पुरस्कार

कोटा। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने में हमेशा आगे रहता है। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की ओर से आयोजित प्रतिभा खोज परीक्षा टैलेंटेक्स का पुरस्कार वितरण समारोह व सक्सेस पॉवर सेशन रविवार को हुआ। बालाजी नगर स्थित यूआईटी ऑडिटोरियम में हुए इस कार्यक्रम में देशभर से मेधावी विद्यार्थी व उनके अभिभावक शामिल होने कोटा पहुंचे। कार्यक्रम में कक्षा 5 से 10वीं तथा 11वीं विज्ञान के टॉपर्स स्टूडेंट्स को 1.25 करोड़ रूपए के पुरस्कार वितरित किए गए। समारोह का मुख्य आकर्षण भारत की दिग्गज खिलाड़ी एवं छह बार वर्ल्ड चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल विजेता रह चुकी राजीव गांधी खेल रत्न, पद्म भूषण महिला मुक्केबाज मेरीकॉम रही। उन्होंने यहां प्रतिभाओं को पुरस्कृत किया तथा संघर्ष करते हुए जीवन में किस तरह सफलता प्राप्त की जा सकती है, स्वयं के अनुभव बताते हुए उन्होंने स्टूडेंट्स को कभी हिम्मत नहीं हारने तथा लगातार लक्ष्य के प्रति अडिग रहने की सीख दी।

कार्यक्रम में एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की ओर से मेरीकॉम का सम्मान किया गया, उन्हें गोल्ड मेडल व प्रशस्ति पत्र दिया गया। सम्मान पर भावुक हुई मैरीकोम ने एक बार फिर ओलम्पिक में गोल्ड मेडल लाने का वादा किया। उन्होंने कहा कि मैं पूरे देश की आशाओं पर खरा उतरना चाहती हूं। यहां एलन ने मुझे सातवां गोल्ड मेडल दिया है, आठवां गोल्ड मेडल लाने की पूरी कोशिश करूंगी। कार्यक्रम में इंडियाज गॉट टैलेंट सीजन-7 के विनर रह चुके बांसुरी वादक सुलेमान एवं इंडियाज गॉट टैलेंट के सेमीफाइनलिस्ट डांसर पपाय व अंतरा की प्रस्तुति भी मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहे। मुख्य अतिथि गीता परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष, मालपानी उद्योग समूह संगमनेर (महाराष्ट्र) के निदेशक एवं ध्रुव ग्लोबल स्कूल संगमनेर एवं पुणे के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. संजय मालपानी रहे। अतिथियों ने टैलेंटेक्स के टॉपर्स को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम की शुरूआत में ज्ञान से पहचान क्विज कॉंटेस्ट आयोजित किया गया, जिसमें विद्यार्थियों और अभिभावकों ने उत्साह के साथ भाग लिया।

………………………………….

कुल 1 लाख 60 हजार 731 स्टूडेंट्स हुए शामिल

निदेशक नवीन माहेश्वरी ने बताया कि एलन द्वारा कक्षा 5 से 11वीं विज्ञान के स्टूडेंट्स के लिए टैलेंटेक्स-2019 तीन तिथियों में आयोजित की गई। इस वर्ष परीक्षा के लिए देश के 25 राज्यों के 300 से अधिक शहरों में 450 से अधिक टेस्ट सेंटर बनाए गए थे। पूरे देश को 7 जोन में विभाजित किया गया था। परीक्षा में कुल 1 लाख 60 हजार 731 स्टूडेंट्स शामिल हुए। इस वर्ष पहली बार अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कतर में आयोजित परीक्षा में राजधानी दोहा के 2337 स्टूडेंट्स ने भाग लिया।

—-

ये रहे नेशनल टॉपर

परिणामों में कक्षा 5 में आदित्य दिनेशभाई, कक्षा 6 में आदित्य रतन झा, कक्षा 7 में वेद लाहोटी, कक्षा 8 में दीपेन सोजित्रा, कक्षा 9 में पार्थ भारद्वाज, कक्षा 10 में श्रयेश गुप्ता, कक्षा 11 (मैथ्स) में पार्थ द्विवेदी, कक्षा 11 (बॉयलोजी) में मुदिता गोयल प्रथम रहे। वहीं द्वितीय स्थान पर कक्षा 5 में प्रनील देबनाथ, कक्षा 6 में अरनव निगम, कक्षा 7 में अमन सेकिया, कक्षा 8 में धू्रवी जयप्रकाश, कक्षा 9 में आयुष मलिक, कक्षा 10 में बरून परूआ, कक्षा 11 (मैथ्स) में कार्तिक शर्मा, कक्षा 11 (बॉयलोजी) में अनुराग कोठारी द्वितीय रहे।

——–

सवा करोड़ रूपए के पुरस्कारों से नवाजा

माहेश्वरी ने बताया कि परीक्षा के आधार पर श्रेष्ठ रहने वाले स्टूडेंट्स को 1.25 करोड़ के पुरस्कार दिए गए। सत्र 2019-20 के अकादमिक सत्र के लिए 90 प्रतिशत तक स्कॉलरशिप दी जाएगी। कक्षा 10 व 11 के टॉपर्स को 2 लाख एवं द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहने वाले विद्यार्थियों को 1 लाख का ईनाम दिया गया है। कक्षा 8 व 9 में टॉपर्स को 1 लाख तथा कक्षा 5 से 7 तक के टॉपर्स को 50 हजार रूपए का पुरस्कार दिया गया है।

…………………………………..

सक्सेस पॉवर सेशन आयोजित

कार्यक्रम की शुरूआत सक्सेस पॉवर सेशन के साथ हुई, जिसमें एलन के सीनियर फेकल्टी मैम्बर्स ने सम्बोधित किया। इस दौरान स्टूडेंट्स को एलन द्वारा आयोजित की गई परीक्षा टैलेंटेक्स का महत्व बताते हुए भविष्य में किस-किस क्षेत्र में क्या-क्या संभावनाएं हैं इस बारे में बताया गया। साइंस में किन क्षेत्रों में किन संस्थानों में बेहतर पढ़ाई हो सकती है इसकी जानकारी दी।

इसके बाद विधिवत रूप से पुरस्कार वितरण समारोह की शुरूआत एलन के निदेशक गोविन्द माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी व बृजेश माहेश्वरी द्वारा दीप प्रज्जवलन कर की गई। गणपति वंदना के बाद विद्यार्थियों को पुरस्कृत करने का सिलसिला शुरू किया गया। अतिथियों के साथ निदेशक गोविन्द माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी, बृजेश माहेश्वरी व नवीन माहेश्वरी ने प्रतिभाओं को मेडल, प्रमाण पत्र, पुरस्कार का चेक व अवार्ड शीट देकर पुरस्कृत किया।

……………………………………

सुलेमान ने साधे बांसुरी के सुर