तेंदुए के हमले में तीन ग्रामीण घायल

कोटा। अयाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुरा गांव में रविवार सुबह एक तेंदुआ आने से गांव वाले भयभीत हो गए। इस दौरान अफरा तफरी और भागदौड़ के बीच तेंदुए ने तीन गांववालों को घायल कर दिया। वन विभाग कर्मचारियों की लापरवाही व सूचना के बाद भी देरी से पहुंचने पर ग्रामीणों की एक वनकर्मी से झड़प भी हो गई। तीनों घायलों को 108 एंबुलेंस की सहायता से इटावा सामुदायिक अस्पताल लाया गया, जहां घयल हुए तीनों लोगों भीमराज मीणा, रामदयाल और मदनलाल का प्राथमिक उपचार कर उन्हें कोटा रैफर कर दिया।

लक्ष्मीपुरा में गांव के बाहर ही हेमराज कुम्हार का मकान हैे, तेंदुआ इसी मकान में जा घुसा। तेंदुए को देखकर गांव वाले इधर-उधर भागने लगे। व पुलिस, वन विभाग को सूचना दी। गांव वालों ने मकान की छत पर चढक़र तेंदुए को देखा। गांववालों की सूचना पर अयाना पुलिस तो मौके पर पहुंच गई लेकिन सूचना देने के बावजूद वन विभाग की टीम कई घंटों तक नहीं पहुंची। इस बीच ग्रामीण तेंदुए को भगाने की मशक्कत करते रहे।

मकान में घुसा तेंदुआ इसी बीच मकान से निकल बाहर की ओर भागा लेकिन ग्रामीणें के हुजूम के कारण वह फिर से एक मकान में जा घुसा। करीब 2 बजे के आसपास कोटा से रेस्क्यू टीम और सवाईमाधोपुर से वन अधिकारी मौके पर पूर्ण जाप्ते के साथ पहुंचे। करीब एक घण्टे की मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम की कोशिश आखिरकार रंग लाई और ट्रेंकयूलाइज कर तेंदुए को बेहोश किया गया। जिसे कर्मचारियों ने पकड़ा व खाट पर डालकर घर से बाहर लेकर आए व पिंजरे में डाला।