कोटा के छात्र ने प्रथम स्थान प्राप्त किया

कोटा । पश्चिम भारत विज्ञान मेला-2018 मुम्बई में आयोजित हुआ। मेले में राजस्थान सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने भी भाग लिया गया। इस मेले में सेन्ट्रल एकेडमी षिक्षान्तर सी0सै0 स्कूल पुलिस लाईन, बारां रोड़ कोटा के छात्र ने राश्ट्रीय स्तर पर अपनी सृजनात्मक पहल से प्रथम स्थान प्राप्त किया।

छात्र ने ओटोमेटिक इको यूरिया स्प्रिंकलर का निर्माण किया। यह स्प्रिंकलर ऑटोमेटिक है एवं इसको सोलर ऊर्जा से संचालित किया जा सकता है। इस यूरिया स्प्रिंकलर के मॉडल को वेस्ट मटेरियल से तैयार किया गया है एवं स्प्रिंकलर ने यूरिया की मात्रा को कम करने के लिए भी सिस्टम लगाया गया है। छात्र ने मषीन का प्रदर्षन करते हुए बताया कि यह मषीन 20 से 25 बीघा खेत में एक समान यूरिया डाल सकती है। साथ ही इसमें पेस्टीसाइड छिडकने की मषीन भी लगायी गई है।

इस मॉडल को बनाने में 2500-3000 तक का खर्च आया है, जिससे गरीब किसानों को आषातीत लाभ होगा एवं इससे किसान के द्वारा किये जाने वाले षारीरिक श्रम में कमी आयेगी। कोई भी किसान इस मषीन पर आराम से बैठकर खेत में डाले जाने वाले यूरिया एवं पेस्टीसाइड की मात्रा को बैठे बैठे ही नियंत्रित कर सकता है। साथ ही उक्त मषीन के सोर ऊर्जा से संचालित होने पर यह इको फ्रेडली भी है।

परियोजना अधिकारी ने बताया कि पष्चिम भारत विज्ञान मेला सन् 1988 से नेहरू विज्ञान केन्द्र, मुम्बई द्वारा आयोजित किया जाता रहा है।

इस श्रृंखला में यह 31 वां आयोजन था। आयोजन में भारत के पष्चिम जोन के राजस्थान, मध्यप्रदेष, छत्तीसगढ़, गुजरात, महाराश्ट्र, कनार्टक, गोवा, दमन-दीव एवं दादरा-नागर हवेली से आये 45 मॉडल प्रदर्षित किये गये। इसमें से 29 मॉडल विद्यार्थियों द्वारा एवं 16 मॉडल अध्यापकों द्वारा बनाये गये थे। इनमें छात्र द्वारा निर्मित मॉडल ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

प्रथम स्थान प्राप्त छात्र को पुरस्कार के रूप में 7 हजार रूपये नकद, ट्रॉफी एवं गिफ्ट हेम्पर दिया गया। कार्यक्रम का उदघाटन सुप्रसिद्ध वैज्ञानिक एवं लेखक डॉ. बाल फोनके द्वारा किया गया। उक्त मॉडल सेन्ट्रल एकेडमी षिक्षान्तर सी0सै0 स्कूल, पुलिस लाईन, बारां रोड़ कोटा के षिक्षक के निर्देषन में बनाये गये।

उल्लेखनीय है कि उक्त प्रतियोगिता राज्य स्तर पर प्रथमतः विज्ञान केन्द्र, कोटा में आयोजित की गई थी। जिसमें उत्कृश्ट चयनित विद्यार्थियों को ही पष्चिम भारत विज्ञान मेला-2018 के लिए मुम्बई भिजवाया गया था।