राजस्थान में जयपुर से सर्वाधिक 171 विद्यार्थियों का रिकाॅर्ड चयन, तीनों श्रेणियों में देशभर से कुल 3969 चयनित।

कोटा। इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ साइंस द्वारा आयोजित किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (केवीपीवाय) के स्टेज-1 एप्टीट्यूड टेस्ट का रिजल्ट घोषित कर दिया गया। यह परीक्षा इस वर्ष 4 नवंबर को आॅनलाइन मोड में हुई थी जिसमें देश के 4 हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने पेपर दिया।

एलन निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि केवीपीवाय-2018 में देश में किसी एक शहर में सर्वाधिक 171 विद्यार्थी जयपुर से चयनित हुए हैं, जिसमें सबसे अधिक एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट से हैं। गत वर्ष जयपुर से 162 विद्यार्थी सफल हुए थे। कोटा से बडी संख्या में विद्यार्थी चयनित हुए हैं, जिनके रिजल्ट देखने का क्रम जारी है।

इस परीक्षा में एस-ए स्ट्रीम में सामान्य वर्ग के 1614, एससी, एसटी वर्ग के 196 व 7 दिव्यांग चयनित हुए हैं। एस-एक्स स्ट्रीम में सामान्य वर्ग के 1780, एससी, एसटी वर्ग के 168 व 7 दिव्यांग चयनित हुए हैं। इसके अतिरिक्त एस-बी केटेगरी में सामान्य वर्ग के 176, एससी, एसटी वर्ग के 20 व एक दिव्यांग चयनित हुए हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि केवीपीवाय में सफल होने वाले विद्यार्थी जेईई-एडवांस्ड एवं नीट में देश के विद्यार्थियों में से शीर्ष रैंक-1500 में चयनित होते हैं।

 यह रही कटआॅफ

केवीपीवाय की एस-ए केटेगरी में कक्षा-11वीं के विद्यार्थियों के लिए सामान्य एवं ओबीसी विद्यार्थियों की कटऑफ 45 अंक एवं एससी,एसटी एवं दिव्यांगों की 32 अंक रही।

एस-एक्स केटेगरी में कक्षा-12वीं के विद्यार्थियों के लिए सामान्य एवं ओबीसी के विद्यार्थियों की कटऑफ 53 अंक तथा एससी,एसटी एवं दिव्यांगों की 40 अंक रही।

जबकि यूजी प्रथम वर्ष में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए एस-बी केटेगरी में कटऑफ 43 अंक तथा एससी,एसटी एवं दिव्यांगों की 30 अंक रही।

द्वितीय चरण में पर्सनल इंटरव्यू

एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि एसए श्रेणी में सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के 1614 विद्यार्थियों को, एससी एवं एसटी वर्ग के 196 तथा दिव्यांग वर्ग से 4 विद्यार्थियों को उत्तीर्ण घोषित किया गया है।

एसएक्स श्रेणी मैं सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के 1780 एससी,एसटी वर्ग के 168 तथा दिव्यांग वर्ग के 7 विद्यार्थियों को उत्तीर्ण घोषित किया गया है।

दूसरे चरण में पर्सनल इंटरव्यू जनवरी के अंतिम सप्ताह में होने की उम्मीद है। पहले चरण की लिखित परीक्षा व दूसरे चरण के इंटरव्यू को मिलाकर मेरिट के अनुसार फैलोशिप दी जाएगी।

 

80 हजार रू. सालाना फैलोशिप

चयनित परीक्षार्थियों को ग्रेजुएशन स्तर पर 80 हजार रूपये वार्षिक फैलोशिप मिलेगी। जबकि पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर 1.12 लाख रू फैलोशिप दी जाएगी।