Lucknow: मुख्यमंत्री ने यह निर्देश मंगलवार को लखनऊ में बस्ती मंडल (बस्ती, सिद्धार्थनगर और संतकबीर नगर) के विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए दिए

0
20

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश मंगलवार को लखनऊ में बस्ती मंडल (बस्ती, सिद्धार्थनगर और संतकबीर नगर) के विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए दिए। मुख्यमंत्री ने सभी विभागाध्यक्षों को साफ निर्देश दिए हैं कि  किसी भी परियोजना के लिए कार्यदायी संस्था का चयन करते समय उसकी क्षमता की परख जरूर की जाए, साथ ही कहा है कि पीएम आवास, सीएम आवास और शौचालयों की जियो टैगिंग जरूर कराई जाए। कपिलवस्तु में भारत स्वदेश योजना में पर्यटन विकास की परियोजनाओं की धीमी प्रगति पर नाराजगी जाहिर करते हुए जवाबदेह अधिकारियों की तैनाती के निर्देश दिए। वहीं, बस्ती में निर्माणाधीन कलेक्ट्रेट भवन को स्वीकृति के 11 वर्ष बाद भी अधूरा होने पर नाखुशी जताई। मुख्यमंत्री ने सिद्धार्थ नगर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज की गुणवत्ता की परख के लिए मुख्यालय से टीम भेजने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयास हो, परियोजनाओं के पुनरीक्षित आगणन की जरूरत न पड़े, भ्रष्टाचार की शिकायतों पर तत्परता से कार्यवाही की जाए। दोषियों से वसूली भी कराई जाए। उन्होंने कहा कि जिले से लेकर शासन स्तर के अधिकारी तय समय सीमा में निर्णय लें। जिस स्तर पर देरी होगी, उसकी जवाबदेही तय की जाए। मुख्यमंत्री ने संतकबीरनगर में एक राजकीय इंटर कॉलेज की स्थापना का प्रस्ताव तैयार करने को कहा। मुख्यमंत्री  ने चीनी मिल, अठदमा, रुधौली में बकाये की भुगतान की समस्या समाधान के लिए अपर मुख्य सचिव, गन्ना विकास को प्रकरण के समाधान के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि   स्थानीय अधिकारी जनप्रतिनिधियों से समन्वय बनाकर हर ब्लॉक के लिए एफपीओ (फार्म प्रोड्यूसिंग आर्गेनाइजेशन) और गोदाम बनाने के लिए प्रस्ताव भेजें।
लंबित न रहें जनप्रतिनिधियों के प्रस्ताव- मुख्यमंत्री ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के प्रस्ताव लंबित न रहें। सांसद हरीश द्विवेदी ने बस्ती में नवीन सड़क परियोजनाओं की मांग की। बस्ती से विधायक दयाराम चौधरी ने बंद हो चुकी औद्योगिक इकाइयों के पुनर्जीवन के लिए विशेष प्रयास की जरूरत बताई। विधायक हरैया अजय सिंह  ने विभिन्न सड़क निर्माण परियोजनाओं की मांग रखी। विधायक चंद्र प्रकाश ने  अपने विधानसभा क्षेत्र में एक राजकीय महिला महाविद्यालय के स्थापना की मांग की। विधायक संजय जायसवाल ने बस्ती में चीफ इंजीनियर की तैनाती की जरूरत बताई तो डुमरियागंज के विधायक राघवेंद्र सिंह ने क्षेत्र में बस स्टैंड की मांग की।  राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. सतीश द्विवेदी ने बाधों की मरम्मत की जरूरत बताई तो स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह  ने ग्रामीण सड़कों की बदहाली की  समस्या से अवगत कराया। सांसद जगदम्बिका पाल  ने सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के कपिलवस्तु में स्थापित होने से हो रही व्यवहारिक दिक्कतों से अवगत कराते हुए इसे जिला मुख्यालय पर स्थापित करने की मांग रखी।
तय हुई काम पूरा करने की समय सीमा

– बस्ती में मेडिकल कालेज के निर्माण कार्य दिसम्बर 2020 तक पूर्ण हो जाएगा।
-संतकबीरनगर में जनपद कारागार अक्टूबर 2020 में पूर्ण रूप से क्रियाशील हो जाएगा।
-सिद्धार्थनगर में राजकीय मेडिकल कालेज का कार्य  जून 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।
-चीनी मिल मुंडेरवा द्वारा बकाये की धनराशि का भुगतान 10 नवंबर तक तथा बभनान चीनी मिल द्वारा 31 अक्टूबर तक कर दिया जाएगा।(UNA)