MP में अनलॉक 1 जून से:क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में CM शिवराज ने कहा- उज्जैन संभाग से होगी शुरुआत, तीसरी लहर के लिए भी तैयारी करें

0
120

मध्यप्रदेश में 31 मई के बाद लॉकडाउन से राहत मिलने लगेगी। शुरुआत उज्जैन से हो सकती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके संकेत दिए हैं। बुधवार को उज्जैन पहुंचे मुख्यमंत्री ने क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में कहा कि 31 मई तक सख्त लॉकडाउन रहेगा। इसके बाद 1 जून से धीरे-धीरे जिलों को खोला जाएगा। ये फैसला सिर्फ उज्जैन संभाग के लिए ही है।
मुख्यमंत्री ने संकेत दिए कि कोरोना नियंत्रण में रहा तो जून में शहर खोलना शुरू किए जाएंगे। सीमित संख्या में विवाह समारोह की अनुमति दी जाएगी। तीसरी लहर की तैयारी करनी है। यह लहर छोटी आए या फिर बड़ी? अभी से तैयारी कर लें। इस दौरान CM ने मीडिया से दूरी बनाकर रखी।
ब्लैक फंगस के मरीजों का मुफ्त इलाज होगा
कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच समीक्षा बैठक के लिए उज्जैन पहुंचे मुख्यमंत्री ने अफसरों को हेलिपेड पर स्वागत के लिए आने से मना कर दिया था। वह करीब 1.20 बजे उज्जैन पहुंचे। CM ने बैठक में ब्लैक फंगस को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा, ब्लैक फंगस के इलाज के उपयोग होने वाली दवाओं का इंतजाम सरकार कर रही है। प्रदेश में ब्लैक फंगस के मरीजों का इलाज सरकार मुफ्त करवाएगी।
31 मई तक 11 दिन कोरोना कर्फ्यू को सख्ती से लागू किया जाए
मुख्यमंत्री ने उज्जैन संभाग के जिला, विकासखंड और ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कहा कि ओवर काॅन्फिडेंस में नहीं रहना है। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। कोरोना मुक्त गांव, कोरोना मुक्त वार्ड, कोरोना मुक्त शहर बनाना है। 31 मई तक 11 दिन कोरोना कर्फ्यू को सख्ती से लागू किया जाए।
CM ने यह भी कहा कि प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़ रहा है। संक्रमितों के आंकड़े में भी लगातार कमी आई है। CM ने कलेक्टर को कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों और बेसहारा हुए परिवार की सूची जल्द बनाने के निर्देश भी दिए।
बैठक में मंत्री मोहन यादव, जगदीश देवड़ा, उज्जैन उत्तर विधायक पारस जैन, महिदपुर विधायक बहादुर सिंह चौहान, सांसद अनिल फिरोजिया मौजूद रहे। उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह और उज्जैन संभाग के IG योगेश देशमुख भी उपस्थित रहे।