Mumbai: पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने महाराष्ट्र सरकार को एक बार फिर से आड़े हाथों लेते हुए आरोप लगाया

0
134

पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने महाराष्ट्र सरकार को एक बार फिर से आड़े हाथों लेते हुए आरोप लगाया है कि सरकार राज्य में कोरोना महामारी से निपटने में पूरी तरह से विफल रही है। इसलिए मौजूदा हालात को देखते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाना ही एक बेहतर विकल्प होगा। इतना ही नहीं राणे ने महाराष्ट्र में सेना बुलाने का भी निवेदन राज्यपाल से किया है। राणे ने बताया कि हमने महामहिम से अनुरोध किया है कि मुंबईकरों को बेहतर इलाज मिल सके। इसलिए महाराष्ट्र के अस्पतालों को सेना के सुपुर्द किया जाए। हमेशा उद्धव ठाकरे पर तंज कसने वाले नारायण राणे ने इस बार सीएम को अनुभवहीन मुख्यमंत्री बताया है।
बढ़ रहे है कोरोना के मामले- महाराष्ट्र में मंगलवार को कोविड-19 के 10,425 नये मरीज सामने आने संक्रमितों की कुल संख्या 7,03,823 हो गई है। इसी के साथ महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामले सात लाख के पार चले गये। इससे पहले 17 अगस्त को कोविड-19 मरीजों की संख्या छह लाख के पार चली गई थी । स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 से 329 और लोगों की मौत हो गई है जिन्हें मिलाकर महाराष्ट्र में अबतक 22,794 लोग अपनी जान इस महामारी से गंवा चुके हैं।
महाराष्ट्र में 1,65,921 एक्टिव केस- उन्होंने बताया कि गत 24 घंटे में 12,300 मरीज ठीक हुए हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त होने वालों की संख्या 5,14,790 हो गई है। अधिकारी के मुताबिक इस समय राज्य में 1,65,921 मरीज उपचाराधीन हैं। उन्होंने बताया कि मंगलवार को राजधानी मुंबई में 587 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई जबकि 35 कोविड-19 मरीजों की मौत हो गई।(UNA)