Mumbai: राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने दावा किया है कि राज्य के 70% लोग यह चाहते हैं कि लॉकडाउन खत्म कर दिया जाए

0
62

राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने दावा किया है कि राज्य के 70% लोग यह चाहते हैं कि लॉकडाउन खत्म कर दिया जाए। मनसे ने यह दावा अपने ऑनलाइन सर्वेक्षण के आधार पर किया है। पार्टी के महासचिव संदीप देशपांडे और पूर्व नगरसेवक संतोष धुरी ने सर्वे के नतीजों की घोषणा करते हुए बताया कि सात दिन तक ऑनलाइन चले इस सर्वेक्षण में कुल 54,177 नागरिकों ने अपने मतों का पंजीकरण कराया। नागरिकों से कुल 9 प्रश्न पूछे गए थे। इन प्रश्नों पर जो जवाब मिले हैं, उनके आधार पर यह रिजल्ट तैयार किया गया है। पहला सवाल था कि क्या लॉकडाउन को पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाना चाहिए? 70.3 फीसदी लोगों ने इस सवाल का जवाब हां में दिया और 26 फीसदी लोगों ने कहा कि नहीं। 3.7 फीसदी लोगों ने कहा कि वे इस बारे में कुछ नहीं जानते। दूसरा सवाल था कि क्या लॉकडाउन ने आपकी नौकरी / व्यवसाय को नकारात्मक रूप से प्रभावित किया है? 89.8 फीसदी ने हां कहा और 8.7 फीसदी ने कहा नहीं। 1.5 फीसदी लोगों ने कहा कि वे नहीं जानते। लॉकडाउन के दौरान अपनी खोई हुई नौकरी / व्यवसाय के लिए राज्य सरकार से उचित सहायता मिलने के सवाल पर केवल 8.7 प्रतिशत लोगों ने हां में दिया है, जबकि 84.9 प्रतिशत लोगों ने कोई मदद न मिलने की बात कही। 6.4 प्रतिशत का कहना है कि वे नहीं जानते हैं।
32.7 फीसद लोगों ने कहा कि राज्य सरकार ने उनके बच्चों की शिक्षा के संबंध में निर्णय लिया गया है, जबकि 52.4 फीसदी लोगों ने इस बात से इनकार किया। बाकी ने कहा कि उन्हें जानकारी नहीं है। 76.5 प्रतिशत लोगों ने लोकल ट्रेन और एसटी सेवाओं को फिर से शुरू करने की बात कही। 19.4 प्रतिशत मना किया। 8.3 फीसद लोग लॉकडाउन अवधि के दौरान बिजली बिलों के भुगतान से संतुष्ट दिखे, जबकि 90.2 फीसद असंतुष्ट दिखे। 25.9 फीसद लोगों को लॉकडाउन के दौरान समय पर इलाज मिला, 60.7 फीसद लोगों ने कहा कि नहीं मिला। 13.4 फीसद लोगों ने राय व्यक्त नहीं की।(UNA)