कोटा। कई महीनों तक मुकुन्दरा में अकेले जीवन बिताने के बाद मंगलवार को रात बाघ एमटी-1 की संगिनी बाघिन टी-106 छोड़ दी गई। बुधवार की सुबह बाघिन मुकुन्दरा में स्वच्छन्द चिरण करती हुई देखी गई। बाघिन के आने के बाद बाघ के वंशवृद्धि की संभावना बढ़ी है। मुकुन्दरा के आबाद होने के आसार बढ़े है।