Odisha: नवीन पटनायक ने घोषित किया कोविड सहायता पैकेज, जानें-किसे कितना मिलेगा मिलेगा लाभ

0
64

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने वीरवार को कोविड सहायता पैकेज की घोषणा की है। 1690 करोड़ 46 लाख रुपये का कोविड पैकेज मुख्यमंत्री ने घोषित किया है। भूमिहीन, किसान, निर्माण श्रमिक, गरीब, आदिम जनजाति, एनआरइजीए श्रमिक, छात्र-छात्रा सभी के लिए यह राशि मुख्यमंत्री ने घोषित की है।
इस सहायता राशि घोषित करते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि कोविड महामारी से पूरा समाज व सभी वर्ग के लोगों की आर्थिक स्थिति प्रभावित हुई है। हालांकि सामाजिक तथा आर्थिक दृष्टिकोण से कमजोर वर्ग के लोग विशेष रूप से प्रभावित हुए हैं। कोविड महामारी की पहली लहर के समय राज्य सरकार की तरफ से घोषित विभिन्न सहायता राशि से समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों को काफी राहत मिली थी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड की दुसरी लहर के कारण राज्य के विभिन्न क्षेत्र में लगभग दो महीने से लॉकडाउन चल रहा है। गरीब तथा श्रमिक वर्ग के लोगों की आर्थिक स्थिति बदहाल हो गई है। इसे ध्यान में रखते हुए उनके लिए राज्य सरकार की तरफ से सहायता पैकेज घोषित किया गया है। इस पैकेज के मुताबिक, कालिया योजना के हिताधिकारी राज्य के 17 लाख 83 हजार भूमिहीन किसान परिवार को प्रति हिताधिकारी पीछे एक हजार रुपये दिया जाएगा। कालिया योजना में सभी भूमिहीन किसान परिवार को भी तीन किश्त में 207 करोड़ रुपये सहयाता राशि दिए जाने की घोषणा मुख्यमंत्री ने की है।
कोविड लॉकडाउन के समय शहरी क्षेत्र में रहने वाले गरीब लोगों को रोजगार देने के लिए राज्य सरकार ने मुक्ता योजना को कार्यकारी किया है। इस योजना के तहत राज्य के 114 नगर निगम में रहने वाले गरीब लोगों को दिसंबर 2021 तक रोजगार मुहैया कराने के लिए 260 करोड़ रुपये का काम दिया जाएगा। एनआरइजीएस योजना में काम करने वाले श्रमिकों को उनकी दैनिक मजदूर के अलावा 50 रुपये अतिरिक्त सहायता राशि दी जाएगी। 21 अप्रैल से 21 जून के बीच यह बढ़ी हुई राशि देने के लिए राज्य सरकार ने 300 करोड़ रुपये का पैकेज घोषित किया है। इस समयावधि के दौरान एनआरइजीएस योजना में छह करोड़ मानव दिवस सृष्टि किया गया है।
खाद्य सुरक्षा हर समय राज्य सरकार की प्राथमिकता में रहा है। राज्य खाद्य सुरक्षा योजना में हिताधिकारियों को जुलाई से नवंबर 21 तारीख तक पांच किलो चावल प्रति व्यक्ति मुफ्त में दिया जाएगा। इसके लिए सरकार 92.86 करोड़ रुपये खर्च करेगी। ओडिशा में 13 आदिम जनजातियों के 66 जार 214 लोग रहते हैं। उनके जीवन जीविका के लिए प्रत्येक परिवार को 5000 रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा मुख्यमंत्री ने की है। इसके लिए 33.10 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा। यह राशि इनके बैंक खाते में सीधे जमा किया जाएगा। जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं को 21 अप्रैल से 21 दिसंबर तक प्री मैट्रिक छात्र वृत्ति उनके माता-पिता के खाते में जमा किया जाएगा। इसके बाद सरकार 252.35 करोड़ रुपये खर्च करेगी और इससे पांच लाख 40 हजार छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा। राज्य में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री ने 1500 करोड़ रुपये के हिसाब से कोविड विशेष सहायता राशि घोषित की है। इसके लिए 360 करोड़ रुपये सरकार खर्च करेगी।
विद्यालय में ना पढ़ने वाले दिव्यांग छात्र-छात्रओं दी जा रही बाणीश्री छात्र वृत्ति जारी रहेगी व अप्रैल से 21 जून तक 200 रुपये से 350 रुपये तक कक्षा के हिसाब से दिया जाएगा। इससे 26 हजार 465 छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा व इसके बाबत सरकार तीन करोड़ 62 लाख रुपये खर्च किया जाएगा। घर में रहकर ऑनलाइन के जरिए पढ़ाई करने वाले विशेष विद्यालय के छात्र-छात्राओं को अप्रैल से जून 21 तारीख तक खाद्य खर्च के बाबत प्रत्येक महीने के 1245 रुपये के हिसाब से दिया जाएगा। इससे 6471 छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा व इसके बाबत दो करोड़ 41 लाख रुपये खर्च किया जाएगा। अप्रैल से 21 जून तक गैर आवासिक छात्र-छात्राओं को मासिक 370 रुपये दिए जाने की घोषणा मुख्यमंत्री ने की है। इसके लिए तीन करोड़ 62 लाख रुपये खर्च किया जाएगा। 344 गैर आवासीय छात्र-छात्राओं को अप्रैल 21 से जून 21 तारीख तक 370 रुपये के हिसाब से अनुदान दिया जाएगा। इसके लिए सरकार तीन लाख 80 हजार रुपया खर्च करेगी।