कोटा । राष्ट्रीय उपभोक्ता संरक्षण दिवस के उपलक्ष्य पर जिला रसद अधिकारी बाल कृष्ण तिवारी की अध्यक्षता में एक विचार संगोष्ठी का आयोजन सोमवार को टैगोर सभागार में किया गया।

जिला रसद अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस के अवसर पर छात्र-छात्राओं की रैली एवं उपभोक्ता परिवादो का समय से निस्तारण-समस्या व सुझाव विषय पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें राजकीय वाणिज्य महाविद्यालय की छात्र-छात्राओ ने भाग लिया। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हिमांशु दुबे, द्वितीय स्थान मुस्कान एवं तृतीय स्थान विजय राज सिंह ने प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि विजेताओं को संगोष्ठी के दौरान शील्ड देकर सम्मानित किया गया।

संगोष्ठी में उपभोक्ता चेतना मंच सचिव पुरूषोत्तम शर्मा ने उपभोक्ताओं के 6 मूल अधिकार यथा सुरक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार, चयन का अधिकार, सुनवाई का अधिकार, क्षतिपूति प्राप्त करने का अधिकार एवं उपभोक्ता शिक्षा का अधिकार के संबंध में जानकारी दी गई। उन्होंने सामान क्रय करते समय बिल लिये जाने की उपयोगिता के संबंध में बताया। अध्यक्ष पेट्रोल पंप एसोसिऐशन तरूमीत सिंह बेदी ने पेट्रोल भरवाते समय मीटर पर ध्यान देने एवं मोबाईल पर बात नहीं करने के सम्बन्ध में विचार प्रकट किये गये। एडवोकेट श्रीमती कल्पना शर्मा ने बताया गया कि ऑनलाईन धोखाधड़ी के सम्बन्ध में उपभोक्ता अदालत में वाद दायर करने पर राहत मिलती है।

इस अवसर पर विचार संगोष्ठी में अध्यक्ष राज्य उपभोक्ता परामर्श केन्द्र पंकज शर्मा, मण्डल सचिव स्काउट गाईड यज्ञदत्त सिंह हाड़ा, एनएसएस प्रभारी मनोज कुमार, जिला प्रबंधक आरएसएलडीसी मनोरथ सिंह ठाकुर, अधिशाषी अभियंता नगर निगम प्रशांत भारद्वाज, अध्यक्ष राजस्थान उपभोक्ता संरक्षण चिकित्सा समिति डॉ. ए.के. टिंकर सहित जिला रसद कार्यालय, जिला कलक्ट्रेट स्टाफ राजकीय विज्ञान महाविद्यालय के छात्र/छात्राओं ने भाग लिया।