Patna बिहार के साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों को बिहार सरकार (Bihar Govt.) न्यू ईयर गिफ्ट (New Year Gift) देने जा रही है. बहुत जल्द वो दूसरे जिले में तबादला ले सकते हैं.

0
151

Patna बिहार के साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों को बिहार सरकार (Bihar Govt.) न्यू ईयर गिफ्ट (New Year Gift) देने जा रही है. बहुत जल्द वो दूसरे जिले में तबादला ले सकते हैं. इसके लिए सॉफ्टवेयर (Software) बन कर तैयार हो गया है. बता दें कि पुरुष नियोजित शिक्षकों के लिए सामांजन पालिसी बनायी जा रही है. इसके तहत उनका म्यूचुअल तबादला हो सकेगा. जबकि करीब डेढ़ लाख से अधिक महिला एवं दिव्यांग शिक्षकों को अंतर जिला एवं अंतर नियोजन इकाई तबादला संबंधी आदेश अगले साल की शुरुआत में मिलने जा रही है.

अंतर जिला,नियोजन इकाइयों के बीच प्रस्तावित तबादले सॉफ्टवेयर के जरिये होंगे. इसके पीछे शिक्षा विभाग की मंशा है कि इन स्थानांतरणों में पक्षपात और दूसरे गतिरोध सामने न आयें. पूरी पारदर्शिता के साथ स्थानांतरण के लिए शिक्षा विभाग ने यह विशेष सॉफ्टवेयर बनाया है.

इस सॉफ्टवेयर के जरिये प्रदेश के केवल महिला शिक्षकों, दिव्यांग और सामान्य पुरुष शिक्षकों की आपसी सहमति से होने वाले स्थानांतरण किये जायेंगे. इस सॉफ्टवेयर के जरिये शिक्षकों के होने वाले सामान्य स्थानांतरण नहीं किये जायेंगे.

प्रक्रिया बहुत जल्दी अस्तित्व में आ जायेगी
आधिकारिक जानकारी के मुताबिक इस तरह के स्थानांतरण के लिए बन रही नियमावली प्रक्रिया बहुत जल्दी अस्तित्व में आ जायेगी. इसके लिए बनी समिति में दो सदस्यों की नियुक्ति भी हो गयी है.अब नियमावली की प्रक्रिया निर्धारित करने के लिए बनायी जाने वाली बैठक बहुत जल्द बुलायी जाने वाली है.

डेढ़ लाख शिक्षकों को फायदा
प्रदेश में इस व्यवस्था से करीब डेढ़ लाख शिक्षकों को फायदा होगा.अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर में विशेष कमांड दी गयी है. इसमें सभी महिला, दिव्यांग एवं आपसी सहमति पर स्थानांतरण की चाह रखने वाले से केवल एक बार आवेदन लिये जायेंगे.
ट्रांसफर की प्रक्रिया बेहद कम समय में
कमांड में प्राथमिकताएं भी निर्धारित रहेंगी. एक क्लिक पर प्राथमिकताओं के आधार पर स्थानांतरण की प्रक्रिया बेहद कम समय में आसानी से हो जायेगी. इस तरह के स्थानांतरण के लिए सबसे पहले दिव्यांगों के स्थानांतरण होंगे. इसके बाद महिला और सबसे बाद में आपसी सहमति से होने वाले तबादले किये जायेंगे. प्राथमिकताओं की अन्य श्रेणियां भी निर्धारित की जायेंगी. उल्लेखनीय है कि इस तरह के तबादले पूरी सेवाकाल में केवल एक बार ही होंगे.