एक्शन मोड़ में सरकार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिया किसानों को तोहफा

32
194

दो लाख रुपए तक के ऋण किये माफ

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को किसानों को बड़ी सौगात दे दी है। राज्य सरकार ने सहकारी बैंकों से लिए अल्पकालीन ऋण यानि 2 लाख रुपए तक के ऋण माफ करने की घोषणा कर दी है। इससे किसानों के 18 हजार करोड़ रुपए के ऋण माफ होंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मैंने आज ही आदेश निकाल दिए हैं कि तमाम जो को-ऑपरेटिव बैंक के लोन हैं वे माफ हो जाएंगे। हमने फैसला किया है कि हम समस्त ऋण माफ करेंगे नेशनल, ग्रामीण या अन्य बैंक उनमें जो किसानों का ऋण हैं। कमर्शियल बैंकों का भी कर्ज माफ होगा। इस ऋण माफी से प्रदेश के 23 लाख किसानों को लाभ मिलेगा।

आपको बताते जाए कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनावों में जनता से वादा किया था कि दस दिनों के अंदर किसानों का ऋण माफ कर दिया जाएगा। इसी के परिणाम स्वरूप मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सत्ता संभालते ही दो दिन के बाद ही किसानों को बड़ा तोहफा दे दिया है।

इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने-अपने प्रांतों के किसानों का कर्ज माफ कर दिया था। इन दोनों मुख्यमंत्रियों ने पद की शपथ लेने के कुछ घंटे के अंदर ही किसानों का कर्ज माफ कर दिया था।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने तीसरे कार्यकाल में बुधवार सुबह पहली बार शासन सचिवालय स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचे और अपने दफ्तर में काम-काज शुरू किया।

मुख्यमंत्री गहलोत ने सबसे पहले शासन सचिवालय परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। इसके बाद उन्होंने सचिवालय के मुख्य द्वार पर स्थित गणेश प्रतिमा के समक्ष पूजा-अर्चना की। गहलोत के मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचने पर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, प्रमुख सचिव (मुख्यमंत्री) कुलदीप रांका तथा सचिव (मुख्यमंत्री) अजिताभ शर्मा ने उनसे शिष्टाचार मुलाकात कर उनका स्वागत किया। सचिवालय परिसर में बड़ी संख्या में अधिकारियों और कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री का अभिवादन कर स्वागत किया और उन्हें शुभकामनाएं दी।

सीएम गहलोत पहले दिन करीब 5 घण्टे 35 मिनट तक सीएमओ में रहे। इस दौरान उन्होंने पहले दिन ही जमकर काम किया और किसान कर्जमाफी समेत अन्य राजकाज के मामलों में प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ मंत्रणा की। वहीं पदभार संभालने के बाद सीएम अशोक गहलोत ने राजभवन जाकर राज्यपाल कल्याण सिंह से भी मुलाकात की। वहीं इस दौरान उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का सचिवालय नहीं आना चर्चा का विषय बना रहा।

इस दौरान पायलट आज एक बार फिर से पीसीसी पहुंचे, जहां कार्यकर्ताओं ने उनसे मिलकर शुभकामनाएं दी। इस दौरान पायलट पूरी तरह से खुशमिजाज मूड में नजर आए, वहीं कार्यकर्ताओं ने भी उनके साथ जमकर सेल्फी ली। यहां तक कि खुद पायलट भी यहां मौजूद लोगों एवं कार्यकर्ताओं के साथ सेल्फी लेते दिखाई दिए। लेकिन आपको बता दे कि मंगलवार को उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट भी सचिवालय पहुंचे थे, लेकिन ना तो उन्होने गांधी प्रतिमा पर पुष्पाजंलि अर्पित की और ना ही उपमुख्यमंत्री के कक्ष को अंदर से देखा। सिर्फ शासन सचिवालय, सीएमओ और मंत्रालयिक भवन का निरीक्षण करके रवाना हो गए।

32 COMMENTS

  1. Hey, you used to write excellent, but the last several posts have been kinda boring?K I miss your tremendous writings. Past several posts are just a little out of track! come on!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here