Ranchi. । क्रिसमस पर्व के आयोजन को लेकर सोमवार को आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कोरोना संक्रमण के कारण पूरी दुनिया कष्ट में है। लोग परेशान हैं। ऐसे में क्रिसमस सादगी से मनाएं। आडंबर के बजाय गरीबों की सेवा करें।

0
40

Ranchi. । क्रिसमस पर्व के आयोजन को लेकर सोमवार को आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कोरोना संक्रमण के कारण पूरी दुनिया कष्ट में है। लोग परेशान हैं। ऐसे में क्रिसमस सादगी से मनाएं। आडंबर के बजाय गरीबों की सेवा करें। आर्च बिशप ने कहा कि इस बार क्रिसमस का त्योहार वे राजधानी के तमाम रिक्शा चालकों साथ मनाएंगे। 25 दिसंबर को मिस्सा अनुष्ठान के उपरांत दोपहर 12 बजे लोयला मैदान में विशेष भोज का आयोजन किया जाएगा। रिक्शा चालकों के अलावा गरीब गुरबों के साथ भोजन करेंगे।
कोरोना महामारी को देखते हुए चर्च में न लगाएं भीड़

आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार 25 दिसंबर को क्रिसमस आयोजन में भीड़ भाड़ की अनुमति नहीं होगी। मिस्सा अनुष्ठान ऑनलाइन होगा। विश्वासी अपने घरों से ही अनुष्ठान में शामिल हो सकते हैं। 24 दिसंबर को रात 10:30 बजे ऑनलाइन मिस्सा होगा। वहीं 25 दिसंबर क्रिसमस डे को सुबह 9:30 बजे ऑनलाइन मिस्सा का आयोजन किया जाएगा।
एक साल बाद भी किसी ईसाई को मंत्रिमंडल में नहीं मिली जगह

आर्च बिशप ने कहा कि सरकार के गठन को 1 साल पूरे हो रहे हैं। इतने दिन बीतने के बावजूद मंत्रिमंडल में ईसाई समाज का प्रतिनिधित्व नहीं है। मुख्यमंत्री अभिलंब इस पर ध्यान दें और मंत्रिमंडल में ईसाई समाज की भागीदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष से 12 विधायक ईसाई समाज के हैं। साथ ही अल्पसंख्यक स्कूलों में नियुक्ति नहीं होने पर सवाल उठाया। कहा कि करीब पांच सालों से अल्पसंख्यक स्कूलों में नियुक्ति नहीं हो रही है। इससे पढ़ाई लिखाई बाधित हो रही है।
सरकार के साथ मिलकर चलाएंगे कोचिंग

आर्च बिशप ने कहा कि महामारी के इस काल में स्कूल कालेज बंद हैं। ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है। लेकिन गांव एवं शहर में बड़ी आवादी ऐसी है जो संसाधन के अभाव में ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रही। चर्च राज्य सरकार के साथ मिलकर गांव स्तर पर कोचिंग चलायेगा।