राफेल पर कांग्रेस की आवाज गुडांई से नहीं दबा पायेगी भाजपा- प्रीतम सिंह

राफेल जहाज खरीद में किये गये घोटाले के विरूद्ध कांग्रेस की आवाज को भाजपा गुंडई व सत्ता के बल पर नहीं रोक पायेगी,।
कांग्रेस भाजपा के हर हमले का सामना करेगी एवं गांधीवादी तरीके से अपनी आवाज बुलंद करती रहेगी।

यह बात आज उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कांग्रेस के प्रदेशव्यापी प्रदर्शन-पुतला दहन कार्यक्रम के तहत प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में एकत्रित कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए कही।
प्रदेश अध्यक्ष ने भाजपा एवं पुलिस प्रशासन को चुनौति देते हुए कहा कि वे अपना पूरा दम लगा लें लेकिन व मोदी व उनकी सेना कांग्रेस की आवाज को खामोश नहीं कर पायेगी, उन्होेंने कल कांग्रेस मुख्यालय पर भाजपा के आराजक तत्वों द्वारा उस समय हमला किया गया जब प्रदेश मुख्यालय में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व केन्द्रीय मंत्री कुमारी शैलजा प्रेस के सामने राफेल मुद्दे पर केन्द्र सरकार की पोल खोलने जा रही थी, उन्होंने कहा कि ये हमला कांग्रेस को व कांग्रेस के नेताओं को डराने धमकाने के लिए किया गया था।

श्री प्रीतम सिंह ने प्रदेश के कांग्रेसजनों से आने वाले दिनों में सड़कों पर संघर्ष व जेल जाने के लिए तैयार रहने का आह्वान किया।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज राफेल मामले जो सवाल प्रधानमंत्री व केन्द्रसरकार से पूछ रहे हैं उनका जबाब पूरा देश जानना चाहता है किन्तु पीएम मोदी उन सवालों का जबाब देना नहीं चाहते और उल्टा कांग्रेस को खामोश करना चाहते हैं।

पूर्व मंत्री हीरा सिंह बिष्ट ने कहा कि बुधवार को पार्टी कार्यालय पर हुआ हमला पूरे देश के कांग्रेसजनों पर हमला और इसका जबाब राज्य सरकार को देना पड़ेगा,कि ये हमला पुलिस के रहते कैसे हुआ।

पूर्व मंत्री राजेन्द्र भण्डारी ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा की गुंडई का सामना करने को तैयार है।

केदारनाथ के विधायक मनोज रावत ने कहा कि भाजपा को लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है इसलिए भाजपा अपने सारे विपक्ष को नेस्तनाबूत करना चाहती है। सभा का संचालन करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने कहा कि कांग्रेसजन गांधी के वारिश हैं इसलिए कांग्रेस का हर प्रदर्शन जूलूस गांधीवादी तरीके से एवं शान्तिपूर्ण तरीके से होता है। जबकि भाजपा के लोग गोडसे के उत्तराधिकारी हैं तो वे उसी रास्ते को अपनाते हैं। श्री धस्माना ने कहा कि मोदी गोगो की भाषा बालते हैं इसलिए वे कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देते है जबकि राहुल गांधी महात्मा गांधी के वारिश हैं इसलिए वे हर विचारधारा के अस्तित्व के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि ईंट पत्थर लाठी गोली से कांग्रेस वाले नहीं डरते इसलिए सच्चाई की लड़ाई जारी रखेंगे, जबतक झूठ फरेब और घोटालों मंे लिप्त भाजपा को सत्ता से बाहर न कर दें।

सभा को जिलाध्यक्ष कांग्रेस परवादून संजय किशोर, जिलाध्यक्ष पछवादून गौरव चैधरी, पूर्व विधायक राजकुमार एवं महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने भी संबोधित किया।
सभा के पश्चात कांग्रेसजन केन्द्र व राज्य की भाजपा सरकार व प्रधानमंत्री, व मुख्यमंत्री के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह जी के नेतृत्व में कांग्र्रेस मुख्यालय से पुतला लेकर राजपुर रोड़ पर निकल पड़े, कांग्रेसियों जुलूस ऐस्लेहाल चैक से गांधी पार्क घण्टाघर पहुंचकर वापस कांग्रेस मुख्यालय की तरफ मुड गया, ऐस्लेहाल पहुंचकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए, पीएम मोदी का पुतला आग के हवाले कर दिया।

प्रदर्शन में अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश अध्यक्ष ताहिर अली, युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रम रावत,आर0पी0 रतूडी, प्रभुलाल बहुगुणा, गोदावरी थापली,हरीकृष्ण भट्ट,प्रदीप जोशी,गरिमा दसौनी,संजय किशोर, संजय शर्मा,महेश जोशी,त्रिलोक सजवाण, नीनू सहगल,अनमोल चैहान,राजेश चमोली,अजय सिंह, दीपबोरा, इलियास आंसारी,आजाद अली,दीवान सिंह बिष्ट,अल्ताफ,राजेश शर्मा,शिव प्रसाद मिश्रा,जयेन्द्र रमोला,राजेन्द्र भण्डारी, सुरेन्द्र रांगड, याकूब सि़िद्वकी, प्रदेश सचिव राजेश पाण्डे, राकेश राणा,जगदीश धीमान,शान्ति रावत, परणीता बडोनी,मंजू तोमर,अमरजीत सिंह,गिरीश पुनेड़ा,भरत शर्मा, संग्राम सिंह पुण्डीर,सोनू खान,सोनू हसन, ललित भद्री,मोहन काला,सुधीर कुमार सुनहेरा,दिनेश नवीन पयाल,दीवान सिंह तोमर,सुनित सिंह राठौर, अनुज दत्त शर्मा, कमलेश रमन,विशाल मौर्य,भूपेन्द्र सिंह,चन्द्रकला नेगी, राजीव पुंज,सुमित्रा ध्यानी,अक्की कुरैशी, निर्मला थापा,मंजू नौडियाल,रेनुजा नेगी,मनोज कुमार, चंदन लाल,विजय गुप्ता,अमित भण्डारी,राहुल पंवार,अनिता निराला,जगदीश चैहान, दिनेश कौशल,अनुराग गुप्ता,प्रमोद गुप्ता, सावित्री थापा, सूरज थापा,अनिल बसनेत,चन्द्रकला नेगी, अश्वनी बहुगुणा, राजीव केषवाल, देवेन्द्र बुटोला, विकास नेगी, लाखीराम बिजलवाण, पूरण सिंह तेन्द्र बिश्ट, विषाल मौर्य, हरविन्दर सिंह रतन, सुनित राठौर, षोभाराम, सावित्री थापा, मोहन काला सुरेन्द्र सूरी, अभिशेक तिवारी, आदि उपस्थित थे ।