झालावाड़। जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने बताया कि जिले की चारों विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना 11 दिसम्बर 2018 को प्रातः 8 बजे से जिला मुख्यालय स्थित राजकीय पोलोटेक्निक कॉलेज में प्रारंभ होगी। मतगणना से जुडे राजकीय कर्मचारियों व अधिकारियों, उम्मीदवार या उसके अधिकृत निर्वाचक अभिकर्ताओं को प्रवेश प्रातः 6.30 बजे से दिया जाएगा। झालरापाटन व डग विधानसभा क्षेत्र से संबंधित गणना करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों तथा निर्वाचक अभिकर्ताओं का प्रवेश कॉलेज के मुख्य द्वार से रहेगा। वहीं खानपुर तथा मनोहरथाना विधानसभा क्षेत्र के अधिकारी व कर्मचारी और निर्वाचक अभिकर्ता का प्रवेश कॉलेज के पीछे के दरवाजे से होगा।

प्रत्येक विधानसभा के मत की गणना के लिए लगेंगी 12 टेबलें

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतों की गणना के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र हेतु 12-12 टेबलें काउन्टिग हॉल में लगाई गई है। प्रत्येक टेबल पर एक-एक गणना पर्यवेक्षक (सुपरवाईजर), गणना सहायक तथा एक माईक्रोऑब्जर्वर (सूक्ष्म प्रेक्षक) की नियुक्ति की गई है। वहीं गणना हॉल को दो भागों में बांटा गया है एक भाग में गणना करने वाले कर्मचारी बैठेंगे वहीं दूसरे भाग में उम्मीदवार के अधिकृत निर्वाचक अभिकर्ता बैठेंगे तथा दोनों के मध्य सुरक्षा की दृष्टि से लोहे की जाली लगाई गई है। जब तक मतों की गणना पूर्ण नहीं हो जाती तब तक 12 के गुणन में ईवीएम का प्रवेश काउन्टिग हॉल में होता रहेगा। प्रत्येक चक्र की गणना के उपरान्त उम्मीदवारों को प्राप्त मतों की संख्या को बोर्ड पर अंकित किया जाएगा। चक्रवार उम्मीदवार को प्राप्त मतों तथा कौन कितने मतों से आगे चल रहा है इसकी उद्घोषणा भी समय-समय पर उद्घोषक द्वारा की जाएगी।

चारों विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना के उपरान्त विजेता उम्मीदवार की घोषणा भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तय प्रक्रिया अनुसार संबंधित रिटर्निंग अधिकारी द्वारा की जाएगी।

सर्वप्रथम होगी डाक मत-पत्रों की गणना

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि ईवीएम में बन्द मतों की गणना से पूर्व प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी के पास लगी टेबल पर सहायक रिटर्निंग अधिकारी द्वारा डाक मत-पत्रों की गणना की जाएगी।

इन पर रहेगा प्रतिबन्ध

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मत गणना स्थल पर चुनाव अभिकर्ता अपने साथ मोबाईल, डिजिटल घड़ी, इलेक्ट्रोनिक गजेट, गुटका, तम्बाकू, बीडी, सिगरेट, माचिस, लाइटर नहीं ले जा सकेंगे।

मतगणना स्थल की गई है त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था

जिला पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा ने बताया कि विधान सभा चुनाव मत गणना स्थल की चाक चौबन्ध त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। भवन के भीतर स्ट्रोंग रूम तथा काउन्टिग हॉल की सुरक्षा के लिए सीआईएफएस की कम्पनी तैनात की गई है। वहीं भवन के द्वार से मुख्य द्वार तक की सुरक्षा की व्यवस्था के लिए आरएसी के 72 जवानों की पूरी कम्पनी तैनात की गई है। वहीं गणना स्थल के बाहर सडक पर 1 किलोमीटर तक पुलिस के जवान मुस्तैदी से तैनात रहेंगे। गणना स्थल में प्रवेश करने वाले सभी अधिकारियों व कर्मचारियों व उम्मीदवार, निर्वाचक अभिकर्ताओं की द्विस्तरीय जांच की जाएगी। प्रथम बार गणना स्थल के मुख्य द्वार पर पुलिस द्वारा वहीं गणना भवन के द्वार पर सीआईएफएस के जवानों द्वारा जांच की जाएगी।

उन्होंने बताया कि मतगणना स्थल पर सुरक्षा की दृष्टि से अस्थाई पुलिस चौकी का भी स्थापित की गई है। अस्थाई चौकी 24 घन्टे मतगणना तक क्रियाशील रहेगी और प्रत्येक पारी प्रभारी एसएचओ को बनाया गया है और सम्पूर्ण मतगणना स्थल सीसी टीवी कैमरों की नजर में है।